छत्तीसगढ़: नक्सलियों ने पुलिस कैंप पर किया हमला, 1 जवान शहीद, रुक-रुक कर हो रही फायरिंग
Narayanpur News in Hindi

छत्तीसगढ़: नक्सलियों ने पुलिस कैंप पर किया हमला, 1 जवान शहीद, रुक-रुक कर हो रही फायरिंग
आज सुबह 8: 30 बजे के करीब सैकड़ों हथियार बंद नक्सलियों ने अचानक कैम्प पर धावा बोल दिया.(प्रतीकात्मक चित्र)

मामला धौड़ाई थाना क्षेत्र स्थित करियामेटा कैम्प (Cariamata Camp) का है. नारायणपुर के धुर नक्सल प्रभावित इलाके में माओवादियों ने सीएएफ के कैम्प पर हमला किया है.

  • Share this:
रायपुर. छत्तीसगढ़ के नारायणपुर (Narayanpur) में एक बड़ी खबर सामने आई है. यहां के करियामेटा कैम्प (Cariamata Camp) पर नक्सलियों ने हमला (Naxalites Attacked) कर दिया. इस हमले में एक जवान शहीद हो गया है. नक्सलियों ने घात लगाकर हमले को अंजाम दिया. इस दौरान सीएएफ के एक जवान के सिर में गोली लग गई, जिससे उनकी मौत हो गई. बस्तर के आईजी ने मामले की पुष्टि की है.

जानकारी के मुताबिक, मामला धौड़ाई थाना क्षेत्र स्थित करियामेटा कैम्प का है. नारायणपुर के धुर नक्सल प्रभावित इलाके में उग्रवादियों ने सीएएफ के कैम्प पर हमला किया है. दोनों ओर से रुक- रुक कर फायरिंग हो रही है. बड़ी संख्या में नक्सलियों की मौजूदगी की खबर है. पिछले 2 घंटों से नक्सली कैम्प पर रुक-रुक कर फायरिंग कर रहे हैं. सीएएफ का यह कैम्प दंतेवाड़ा और नारायणपुर के बीच घनघोर जंगल में बारसूर पल्ली मार्ग पर स्थित है. जानकारी के अनुसार, सुबह 8:30 बजे के करीब सैकड़ों हथियारबंद नक्सलियों ने अचानक कैम्प पर धावा बोल दिया.

लगातार हो रहीं नक्‍सली घटनाएं
बता दें कि इसी महीने 7 जुलाई को खबर सामने आई थी कि दंतेवाड़ा (Dantewada) में नक्सलियों ने एक पुलिस आरक्षक (Police Constable ) के पिता का अपहरण कर लिया है. बेटे के पुलिस में भर्ती होने से नाराज होकर नक्सलियों द्वारा ये कदम उठाया जाना बताया जा रहा था. नक्सलियों ने आरक्षक के पिता और मां दोनों का अपहरण किया था, लेकिन बताया जा रहा था कि 62 वर्षीय मां को आधे रास्ते से नक्सलियों ने वापस भेज दिया और आरक्षक के पिता 64 वर्षीय लच्छू तेलाम को साथ ही ले गए. वहीं, बहन के साथ मारपीट भी की गई थी.
बुजुर्गों को भी अब नक्सली परेशान करने पर तुल गए हैं


दंतेवाड़ा के एसपी डॉ. अभिषेक पल्लव ने न्यूज 18 को बताया था कि ग्राम गुमियापाल के पटेल पारा से नक्सलियों ने पुलिस आरक्षक अजय तेलाम के पिता व मां का अपहरण किया है. अजय तेराम पहले स्थानीय आश्रम में मुंशी था. करीब एक साल पहले उसने पुलिस में भर्ती होने की इच्छा जताई थी. वो अभी नव आरक्षक है. पुलिस में भर्ती होने से नाराज नक्सलियों ने इस तरह की वारदात को अंजाम दिया है. बुजुर्गों को भी अब नक्सली परेशान करने पर तुल गए हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading