अपना शहर चुनें

States

तो क्‍या तुर्की वाले नहीं देख पाएंगे छत्‍तीसगढ़ के नृत्‍य?

अगले महीने तुर्की के इस्ताम्बुल में होने वाले कार्निवाल में बस्तर के लोक नृत्य ककसाड़ और गेड़ी के शो पर पानी फिरता दिख रहा है, नारायणपुर जिल के देवगांव के नर्तक दल को संस्कृति विभाग के मार्फत वहां प्रस्तुति का मौका मिला है, लेकिन तीन नर्तकियों का पासपोर्ट नहीं बन पाने से पूरे दल को तुकी जाने से वंचित रहना पड़ेगा, हालाकि दल में 15 लोग हैं, जिसमें से 12 लोगों के पासपोर्ट बन गए हैं.
अगले महीने तुर्की के इस्ताम्बुल में होने वाले कार्निवाल में बस्तर के लोक नृत्य ककसाड़ और गेड़ी के शो पर पानी फिरता दिख रहा है, नारायणपुर जिल के देवगांव के नर्तक दल को संस्कृति विभाग के मार्फत वहां प्रस्तुति का मौका मिला है, लेकिन तीन नर्तकियों का पासपोर्ट नहीं बन पाने से पूरे दल को तुकी जाने से वंचित रहना पड़ेगा, हालाकि दल में 15 लोग हैं, जिसमें से 12 लोगों के पासपोर्ट बन गए हैं.

अगले महीने तुर्की के इस्ताम्बुल में होने वाले कार्निवाल में बस्तर के लोक नृत्य ककसाड़ और गेड़ी के शो पर पानी फिरता दिख रहा है, नारायणपुर जिल के देवगांव के नर्तक दल को संस्कृति विभाग के मार्फत वहां प्रस्तुति का मौका मिला है, लेकिन तीन नर्तकियों का पासपोर्ट नहीं बन पाने से पूरे दल को तुकी जाने से वंचित रहना पड़ेगा, हालाकि दल में 15 लोग हैं, जिसमें से 12 लोगों के पासपोर्ट बन गए हैं.

  • Share this:
अगले महीने तुर्की के इस्ताम्बुल में होने वाले कार्निवाल में बस्तर के लोक नृत्य ककसाड़ और गेड़ी के शो पर पानी फिरता दिख रहा है, नारायणपुर जिल के देवगांव के नर्तक दल को संस्कृति विभाग के मार्फत वहां प्रस्तुति का मौका मिला है, लेकिन तीन नर्तकियों का पासपोर्ट नहीं बन पाने से पूरे दल को तुकी जाने से वंचित रहना पड़ेगा, हालाकि दल में 15 लोग हैं, जिसमें से 12 लोगों के पासपोर्ट बन गए हैं.

वहीं दल के एक भी सदस्य के कम होने पर नृत्य नहीं किया जा सकता है. देवगांव की नर्तकयियां कई बार रायपुर के पासपोर्ट ऑफिस के चक्कर काट चुकी हैं. अब तुर्की जाने की आस छोड़ चुकी हैं.

नारायणपुर जिले के देवगांव की टीम के सभी नर्तक गोंड जनजाति के हैं. वे तुर्की के कार्निवाल में शो का न्योता मिलने से काफी खुश थे, लेकिन उनकी खुशी पर पानी फिर गया है. जब नर्तक दल के 15 सदस्यों में से तीन का पासपोर्ट नहीं बन सका है और वे लगातार पासपोर्ट कार्यालय के चक्कर काट रहे हैं.



हर बार उन्‍हें किसी न किसी दस्तावेज की कमी बताकर वापस भेज दिया जा रहे हैं. ये नर्तक दल के लोग अब तक चार बार रायपुर के पासपोर्ट ऑफिस के चक्कर लगा चुके हैं. अगले माह तीसरे हफ्ते में कार्निवाल में शो होने वाला है, इन्हे 20 अप्रैल को तुर्की पहुचंना है, जहां पांच दिनों का कार्यक्रम है. नर्तक दल में पांच युवतियां और 10 युवक शामिल हैं.
नारायणपुर के ये नर्तक दल पहली बात अपनी प्रस्तुती विदेश में देने जा रहे हैं, जिससे इनकी खुशी का ठिकाना ही नहीं था, लेकिन पासपार्ट न बनने से पूरी टीम में मायूसी छा गई है.

आप hindi.news18.com की खबरें पढ़ने के लिए हमें फेसबुक और टि्वटर पर फॉलो कर सकते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज