अपना शहर चुनें

States

माओवादियों ने किया पुलिस के सामने सरेंडर, 17 लाख रुपए था इनाम

नारायणपुर जिले के एसपी कार्यालय में रविवार को बस्तर जिले के आईजी के सामने 3 माओवादियों ने आत्मसमर्पण किया. इन तीनों के ऊपर 17 लाख रुपए का इनाम घोषित था. आत्मसमर्पण करने वाले माओवादियों की तलाश नारायणपुर पुलिस को काफी लंबे समय से थी. ये माओवादी नक्सली संगठन में काफी लंबे समय से सक्रिय थे और ये माओवादी संगठनों के कई पदों पर कार्यरत थे.
नारायणपुर जिले के एसपी कार्यालय में रविवार को बस्तर जिले के आईजी के सामने 3 माओवादियों ने आत्मसमर्पण किया. इन तीनों के ऊपर 17 लाख रुपए का इनाम घोषित था. आत्मसमर्पण करने वाले माओवादियों की तलाश नारायणपुर पुलिस को काफी लंबे समय से थी. ये माओवादी नक्सली संगठन में काफी लंबे समय से सक्रिय थे और ये माओवादी संगठनों के कई पदों पर कार्यरत थे.

नारायणपुर जिले के एसपी कार्यालय में रविवार को बस्तर जिले के आईजी के सामने 3 माओवादियों ने आत्मसमर्पण किया. इन तीनों के ऊपर 17 लाख रुपए का इनाम घोषित था. आत्मसमर्पण करने वाले माओवादियों की तलाश नारायणपुर पुलिस को काफी लंबे समय से थी. ये माओवादी नक्सली संगठन में काफी लंबे समय से सक्रिय थे और ये माओवादी संगठनों के कई पदों पर कार्यरत थे.

  • Share this:
नारायणपुर जिले के एसपी कार्यालय में रविवार को बस्तर जिले के आईजी के सामने 3 माओवादियों ने आत्मसमर्पण किया. इन तीनों के ऊपर 17 लाख रुपए का इनाम घोषित था. आत्मसमर्पण करने वाले माओवादियों की तलाश नारायणपुर पुलिस को काफी लंबे समय से थी. ये माओवादी नक्सली संगठन में काफी लंबे समय से सक्रिय थे और ये माओवादी संगठनों के कई पदों पर कार्यरत थे.

आत्मसमर्पण करने वाले ये माओवादी नारायणपुर जिले के साथ ही धमतरी जिले की कई माओवादी घटनाओं में शामिल रह चुके थे. नारायणपुर जिले के पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंचकर बस्तर जिले के आईजी एस.आर.पी. कल्लूरी के सामने 3 माओवादियों ने अपना अत्मसमर्पण किया है.

आत्मसमर्पण करने वाले इन माओवादियों में लच्छीन पोयाम, माओवादी संगठन में कंपनी नम्बर 06 का डिप्टी कमांडर था जिसके ऊपर 8 लाख रुपए का इनाम घोषित था. वह नारायणपुर जिले की 5 वारदातों में शामिल था तथा धमतरी के रिसगाव में पुलिस जवानों पर हमले में भी शामिल था.



दूसरा बुधराम वड्दा, माओवादी संगठन में कंपनी नम्बर 1 में प्लाटून नम्बर 2 के सेक्सन बी का सदस्य कमांडर था, जो जिले के 2 प्रमुख घटनों में शामिल था. इसके ऊपर भी 8 लाख रुपए का इनाम घोषित था.
तीसरा सदस्‍य सोमारु पोयाम जो माओवादियों के ईकमेटा जनताना सरकार अध्यक्ष रहा है, जिसके ऊपर 1 लाख रुपए का इनाम घोषित था, जो जिले के कुरुषनार कैम्प अटैक का आरोपी है.

इन माओवादियों के आत्मसमर्पण करने पर बस्तर के आईजी. ने इन्हें 10-10 हजार रुपए की प्रोत्साहन राशि प्रदान की है. इन माओवादियों के आत्मसमर्पण से नारायणपुर पुलिस का मनोबल काफी बढ़ा है और अब पुलिस इन्हें आत्मसमर्पित नीति के तहत सुविधा प्रदान करने की बात कह रही है.

आप hindi.news18.com की खबरें पढ़ने के लिए हमें फेसबुक और टि्वटर पर फॉलो कर सकते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज