Assembly Banner 2021

सांप डसने पर मौत के बाद परिवार वाले बोले- लाश सौंप दो हम जिंदा कराएंगे

केरल के वायनाड में एक बच्ची की स्कूल में सांप काटने से मौत हो गई.

केरल के वायनाड में एक बच्ची की स्कूल में सांप काटने से मौत हो गई.

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के रायगढ़ (Raigarh) जिले के खरसिया (Kharsia) थाना क्षेत्र के ठाकुर दिया गांव से जुड़ा मामला है.

  • Share this:
रायगढ़: छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के रायगढ़ (Raigarh) जिले में एक अजीबो गरीब मामला सामने आया है. रायगढ़ में बीते सप्ताह सांप के डसने (Snake Bite) से नानी और नाती की मौत हो गई थी. अस्पताल में इलाज के लिए ले जाते समय दोनों ने दम तोड़ दिया. इसके बाद चिकित्सक शवों को पोस्टमार्टम करने मुर्दाघर भेजने लगे. इसी दौरान परिवार वाले कहने लगे कि पोस्टमार्टम नहीं करवाएंगे, दोनों लाश सौंप दो, इन्हें हम जिंदा करवाएंगे. अपनी मांग को लेकर वे कलेक्टर के पास भी पहुंच गए.

मिली जानकारी के मुताबिक रायगढ़ (Raigarh) जिले के खरसिया (Kharsia) थाना क्षेत्र के ठाकुर दिया गांव से जुड़ा मामला है. यहां के निवासी योगेश दास महंत (13) पिता संजू दास और उसकी नानी श्याम बाई महंत (70) को बीते 11 सितंबर की रात को सांप (Snake) ने डस लिया था. इसके बाद दोनों को इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया. इसके बाद शवों को पोस्टमार्टम करने के लिए भेजने की बात डॉक्टर ने कही, इसके बाद से ही विवाद शुरू हो गया.

यहां थी जिंदा होने की उम्मीद
मिली जानकारी के मुताबिक परिवार वाले दोनों के शव को बाराद्वार के पास कैथा गांव ले जाना चाह रहे थे. लोगों को ऐसा अंधविश्वास है कि सांप डसने वाले व्यक्ति को वहां पहुंचाने पर उसका जहर उतर जाता है और वह फिर से जीवित हो जाता है. परिवार वालों ने पोस्टमार्टम से इंकार कर दिया और वे सीधे कलेक्टोरेट पहुंच गए. कुछ देर बहश के बाद अ​फसरों ने परिवार वालों को समझाया और अंधविश्वास पर ध्यान नहीं देने की बात कही. अफसरों के समझाने पर परिवार के सदस्य माने और पोस्टमार्टम के बाद आगे की प्रक्रिया की गई.
ये भी पढ़ें: छत्तीसगढ़ में मोबाइल मेडिकल टीमें करेंगी लोगों का इलाज, CM भूपेश बघेल ने दिए निर्देश 



ये भी पढ़ें: 'नक्सलगढ़' में ऐसा स्कूल, जहां भविष्य ही नहीं जान भी खतरे में डालकर पढ़ाई करते हैं बच्चे
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज