अपना शहर चुनें

States

विधानसभा चुनाव के लिए एक-दूसरे के दांव पर नजर रखे हुए हैं भाजपा और कांग्रेस

Demo Pic
Demo Pic

छत्तीसगढ़ में होने वाले विधानसभा चुनाव में भले ही नौ महीनों का समय बचा हो, लेकिन भाजपा और कांग्रेस दोनों ने कमर कस ली है. दोनों ही पार्टियां अभी से कोई कसर नहीं छोड़ना चाहती हैं. खासतौर पर भाजपा 15 सालों की सत्ता यूं ही नहीं गंवाना चाहती है.

  • Share this:
छत्तीसगढ़ में होने वाले विधानसभा चुनाव में भले ही नौ महीनों का समय बचा हो, लेकिन भाजपा और कांग्रेस दोनों ने कमर कस ली है. दोनों ही पार्टियां अभी से कोई कसर नहीं छोड़ना चाहती हैं. खासतौर पर भाजपा 15 सालों की सत्ता यूं ही नहीं गंवाना चाहती है. यही वजह है कि उसकी पैनी नजर कांग्रेस के हर दौरे पर है. वहीं कांग्रेस भी भाजपा के हर दांव पर नजर रखे हुए है.

बस्तर हो या रायगढ़ जहां-जहां कांग्रेस ने पदयात्रा की है भाजपा अब दोबारा उन जिलों की थाह ले रही है. यह जानने के लिए कि कहीं सेंध तो नहीं लग रही है. कहीं-कहीं तो एक ही मैदान में दोनों ही पार्टियों के बड़े नेता आमने-सामने ताल ठोक रहे हैं.

ऐसा ही मामला रायगढ़ में देखने को मिला, जहां रायगढ़ में कांग्रेस की पदयात्रा चल ही रही है तो वहीं भाजपा के कद्दावर नेता सौदान सिंह भी  रायगढ़ में जमे हुए हैं. कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया ने इसे भाजपा की घबराहट का नाम दे रही है.



भाजपा भी ये स्वीकार करने से नहीं हिचकिचा रही है कि कुछ जगहों पर वे कमजोर है. इसलिए वहां मेहनत करने में क्या हर्ज है. भाजपा के प्रवक्ता सच्चिदानंद उपासने ने कांग्रेस से पूछा कि यदि सबकुछ ठीक है, तो जहां बहुमत मिला था वहां कांग्रेस के नेता गाड़ी भर-भर कर दौरे क्यों कर रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज