पाकिस्तान से ओएलएक्स पर कार का विज्ञापन देकर हो रही ठगी, पुलिस लाचार

छत्तीसगढ़ के रायगढ़ में ओएलएक्स पर कार बेचने का विज्ञापन देकर लोगों को ठगने के कई मामले सामने आए हैं. पुलिस लाचार है क्योंकि ठगों का लोकेशन पाकिस्तान में मिल रहा है.

News18 Chhattisgarh
Updated: July 12, 2019, 4:44 PM IST
पाकिस्तान से ओएलएक्स पर कार का विज्ञापन देकर हो रही ठगी, पुलिस लाचार
प्रतीकात्मक तस्वीर
News18 Chhattisgarh
Updated: July 12, 2019, 4:44 PM IST
ठगी का अंदाज बदल रहा है. एटीएम कार्ड की डिटेल लेकर ठगी करने की जगह छत्तीसगढ़ के रायगढ़ में  ओएलएक्स पर कार बेचने का विज्ञापन देकर ठगी होने लगी है. ठग ग्राहकों को खुद को सेना के अफसर के रूप में परिचय देकर फांस रहे हैं. ठगी के ऐसे तीन मामले सामने आने के बाद भी पुलिस खाली हाथ है. फोन कॉल के डिटेल्स और जिन खातों में रुपए डाले गए हैं उनसे पुलिस ठगों का लोकेशन पाकिस्तान और भारत के बॉर्डर वाले इलाके की बता रही है. ठगों को गिरफ्तार करने के लिए सीमाई इलाकों में पुलिस दो-तीन टीम भेजने की तैयारी में है. एएसपी अभिषेक वर्मा का कहना है जांच के दौरान आरोपियों का लोकेशन पाकिस्तान दिख रहा है, इसलिए इन्हें पकड़ना मुश्किल है. ऐसे मामले में लोगों को सतर्क रहना जरूरी है.

इस तरह होने लगी है ठगी 


ठग कम कीमत पर सामान बेचने का एड ओएलएक्स पर डालते हैं. फोन पर संपर्क करने वाले को वे खुद को सेना का अफसर बतातें हैं और कहते हैं कि दूसरी कार खरीदनी है इसीलिए इसको हटा रहे हैं. बातचीत हो जाने पर वे कुछ पैसा अपने खाते में डालने के लिए कहते हैं. पैसे मिलने के बाद रजिस्ट्रेशन, ट्रांसपोर्टेशन और अन्य खर्च की बात कहकर और रुपए मांगते हैं और इस तरह खरीदने वाला ठगा रह जाता है.

डालते है फर्जी आईडी कार्ड भी 

खुद को आर्मी का अफसर होने का विश्वास दिलाने के लिए एक ठग ने हरियाणा की एक आर्मी कैंटीन का और आर्मी का अपना आईकार्ड वाट्सएप पर भेजा. ठगी का शिकार व्यवसायी रुपए देने के लिए जब तैयार नहीं हुआ तो उसने आर्मी के अफसरों के साथ अपनी बहुत सारी फोटो भेजी. इसके बाद व्यवसायी फंस गया और पूरी पेमेंट कर दी.

ऐसे हैं और मामले
ठगी का शिकार होने का पहला मामला रायगढ़ के कोष्टापारा निवासी अवधेश तिवारी का है. उन्होंने ओएलएक्स एप में कार सेल का विज्ञापन देखा. मंजीत सिंह और आनंद सिंह नाम के दो लोगों ने खुद को आर्मी अफसर बताया. स्विफ्ट डिजायर कार जिसका रजिस्ट्रेशन नंबर सीजी 04 एचडी 3893 है. यह कार कृष्ण कुमार साहू के नाम से रजिस्टर्ड है. इसी कार का सौदा ढाई लाख में कर लिया और एडवांस के तौर पर 97 हजार 510 रुपए ले लिए. इसी तरह इंदिरा नगर पूछापारा के मनोज सिंह ने 20 मार्च को ओएलएक्स एप में कार सेल का विज्ञापन देखा. ठग ने यहां भी खुद को सेना का अफसर बताया और नाम जयकिशन बताया. उसने स्विफ्ट डिजायर कार नंबर ओडी 33 जे 8099 को 3 लाख 25 हजार रुपए में बेचने के लिए एड डाला था.
Loading...

ये भी पढ़ें- मुठभेड़ में 5 लाख का इनामी नक्सली ढेर, DRG जवानों को सफलता

कांकेर के स्कूल में भारत माता की जय बोलने पर ​बैन, हंगामा
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...