अपना शहर चुनें

States

जंगली हाथियों का क़हर जारी, अब रायगढ़ में ट्रक में सो रहे ड्राइवर को कुचला

छत्तीसगढ़ में हाथियों का कहर जारी है. फाइल फोटो.
छत्तीसगढ़ में हाथियों का कहर जारी है. फाइल फोटो.

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में 250 से अधिक हाथी (Elephants) हैं, जो कि अलग अलग क्षेत्रों में विचरण कर रहे हैं. बीते तीन वर्षो में हाथियों ने 204 लोगो को मौत के घाट उतार दिया है.

  • Share this:
छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में हाथियों का कहर जारी है. अलग अलग जिलों में हाथियों के हमले रूकने के नाम नहीं ले रहे हैं. बीते सप्ताह जशपुर (Jashpur) में एक स्कूली छात्रा को हाथी ने कुचलकर मौत के घाट उतार दिया था. अब रायगढ़ में एक घटना को हाथियों ने अंजाम दिया है. रायगढ़ (Raigarh) के छाल में एक हाथी ने ट्रक में सो रहे वाहन चालक को मार डाला है.

बता दें कि छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में 250 से अधिक हाथी (Elephants) हैं, जो कि अलग अलग क्षेत्रों में विचरण कर रहे हैं. बीते तीन वर्षो में हाथियों ने 204 लोगो को मौत के घाट उतार दिया है. हालांकि वन विभाग ने हाथी के हमले से मौत के बाद मुआवजा की राशि को 4 लाख से बढ़ा कर 6 लाख रुपये कर दिया है. विभाग और सरकार हाथियों को लेकर गंभीर तो दिख रही मगर हाथियों के हमले कम नहीं हो रहें.

सूरजपुर में भी जारी है दहशत
सूरजपुर जिले के प्रतापपुर वन परिक्षेत्र मे 16 हाथियों के दल से अलग हुए तीन हाथियों का दहशत सरहरी गांव समेत दर्जन भर गांव में पिछले एक सप्ताह से बना हुआ है. दरअसल पिछले चार माह से हाथियों का उत्पात थमा हुआ था. ऐसे में प्रतापपुर वन परिक्षेत्र मे विचरण कर रहे हाथियों के दल से प्यारे नाम के हाथी के साथ दो अन्य हाथी अलग होकर सरहरी समेत आसपास के दर्जन भर रिहायशी गांवो मे शाम ढलते ही रुख कर रहे हैं, जहां पिछले एक सप्ताह मे चार घर और कई किसानों की फसलों को नुकसान पहुंचाया है. दो दिन पहले प्यारे हाथी ने ही क्षेत्र के दो लोगों को मार दिया था. ग्रामिणों को हाथियों के लोकेशन की जानकारी न मिलने से वे दहशत में हैं.
ये भी पढ़ें: कांग्रेस का पीछा नहीं छोड़ रहा वंशवाद का जिन्न, BJP ने लगाए ये आरोप 



शादी से इनकार करने पर सिरफिरे आशिक ने की प्रेमिका की निर्मम हत्या, फिर.. 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज