अपना शहर चुनें

States

रायगढ़: इस गांव में जमीन धंसने से दहशत में किसान, अबतक गिर चुके हैं 6 मकान

जमीन धंसने से दहशत में ग्रामीण
जमीन धंसने से दहशत में ग्रामीण

भू- वैज्ञानिक जमीन धंसने को भू-स्खलन मान रहे हैं. उनका कहना है कि इस तरह की घटना को कोई रोक नहीं सकता.

  • Share this:
रायगढ़ के पिहरा गांव के लोग इन दिनों दहशत में जी रहे हैं. यहां भय का माहौल उनके पैरों तले जमीन खिसकने की घटनाओं से है. सरिया ब्लॉक के पिहरा गांव की जमीन अचानक धंस रही है. भू-गर्भीय क्रिया की वजह से मकान एक-एक कर धराशायी हो रहे हैं.

अब तक 6 मकान गिर चुके हैं और दर्जन भर से अधिक मकानों में बड़ी बड़ी दरारें आ गई हैं. जिसे लेकर लोग काफी परेशान और भय की स्थिति में हैं. इस तरह की घटना के बाद लोग अपने मकानों से अलग गर्मी और लू के बीच खुले आसामान के नीचे रह रहे हैं. वहीं काफी लोग अब भी दरकते हुए मकान में ही रह रहे हैं.

भू- वैज्ञानिक जमीन धंसने को भूस्खलन मान रहे हैं. उनका कहना है कि इस तरह की घटना को कोई रोक नहीं सकता. इस लापरवाही की वजह से कभी भी बड़ी दुर्घटना घटित हो सकती है. गांव की जमीन एक-एक कर कई स्थानों से धसक रही है. लेकिन प्रशासनिक स्तर पर अब तक पीड़ितों को किसी अन्य स्थान पर विस्थापित नहीं किया गया है.



भू-स्खलन की घटना को हुए 15 दिन से अधिक समय बीत चुका है. लेकिन स्थानीय स्तर पर अब तक जिला प्रशासन ने पीड़ितों की किसी भी तरह की मदद नहीं की है. लोग अपनी जान को जोखिम में डाल कर जहां जमीन धंस रही है, वहीं रहने को मजबूर हैं.
ये भी पढ़ें- मंत्री बृजमोहन की बढ़ सकती हैं मुश्किलें, हाई कोर्ट ने EOW से मांगी रिपोर्ट

प्रधानमंत्री की रैलियों की संख्या बढ़ाए जाने से झलक रहा है उनका डर: पीएल पुनिया
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज