अपना शहर चुनें

States

छत्तीसगढ़: रायगढ़ के पेपर मिल में गैस लीक, चपेट में आए 7 मजदूर, 3 की हालत गंभीर

अस्पताल में मजदूरों का हाल जानने पहुंचे अफसर.
अस्पताल में मजदूरों का हाल जानने पहुंचे अफसर.

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के रायगढ़ (Raigad) जिले में संचालित एक पेपर मिल में क्लोरीन टंकी सफाई के दौरान गैस लीक होने से गुरुवार को बड़ा हादसा हो गया.

  • Share this:
रायगढ़. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के रायगढ़ (Raigad) जिले में संचालित एक पेपर मिल में गुरुवार को एक बड़ा हादसा हो गया. पेपर मिल में गैस लीक (Gas Leak) होने से वहां काम कर रहे 7 मजदूर उसकी चपेट में आ गए. इनको इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है. घायलों में 3 की हालत नाजुक बनी हुई है. जिले के पुसौर तेतला गांव में शक्ति पेपर मिल क्लोरीन टंकी सफाई के दौरान हादसा हुआ है. रायगढ़ के निजी अस्पताल में मजदूरों का इलाज कराया जा रहा है. घायलों का हाल जानने रायगढ़ कलेक्टर और एसपी अस्पताल पहुंचे. उन्होंने घायलों के परिवार वालों से मुलाकात की है. गंभीर रूप से घायल तीन मजदूरों को रायपुर रेफर कर दिया गया है.

रायगढ़ के पुसौर ब्लॉक में शक्ति पेपर मिल संचालित होता है. उक्त मिल 2 महीने से बंद पड़ी थी पेपर मिल, टैंक साफ करने के दौरान गैस रिसाव हुआ. वहां मिल के दो मजदूर उसकी सफाई करने उतरे थे. इसी दौरान यह हादसा हो गया. टंकी की सफाई करने वालों के चक्कर में वहां कुछ और लोग भी जहरीली गैस की चपेट में आ गए. हालांकि घटना बुधवार की दोपहर की बताई जा रही है. तब तक हादसे की सूचना किसी को नहीं थी. आज जब इसकी जानकारी प्रशासनिक अमले को लगी तो कलेक्टर यशवंत कुमार और एसपी संतोष कुमार, एएसपी अभिषेक वर्मा निजी अस्पताल पहुंचे. घायलों में रुपधर मालाकर, पुरनजन भोय के साथ पांच अन्य लोग शामिल है.

जांच के बाद होगा मामल दर्ज
रायगढ़ के एसपी संतोष कुमार सिंह ने कहा है कि घटना की सूचना पेपर मिल संचालक द्वारा नहीं दी गई है. पूरी घटना के जांच के बाद आवश्यक कार्रवाई की जाएगी. यह गंभीर मामला है. टंकी सफाई के दौरान यह हादसा हुआ. तीन की हालत गंभीर है जिसे देखते हुए उन्हें बेहतर इलाज के लिए रायपुर भेजा गया है.
उद्योग संचालक छुपाते हैं घटना


जिले में 100 से अधिक छोटे-बड़े उद्योग संचालित होते हैं. औद्योगिक इकाइयों में दुर्घटनाओं को अक्सर छुपाने का प्रयास किया जाता है. इस तरह की हरकतों के बाद शासन-प्रशासन को जवाब देना होता है जबकि गलतियां और लापरवाही उद्योग संचालकों की होती है. पुसौर के पेपर मिल में हुई घटना को भी 24 घंटे तक छुपाने का प्रयास किया गया. हालांकि रायगढ़ पुलिस की सतर्कता से यह हादसा उजागर हो गया अब पुलिस कार्रवाई करने की बात कह रही है.

ये भी पढ़ें:
कोरोना से जंग: इन 7 बड़े फैसलों से पूरे देश में चर्चा में है ये छोटा राज्य
छत्तीसगढ़ में लॉकडाउन का सितम: कल तक थे बॉडीबिल्डर, आज हैं सब्जी बेचने को मजबूर
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज