अपना शहर चुनें

States

एनटीपीसी भूमि अधिग्रहण घोटाले की फाइलें दफ्तरों में फांक रहीं धूल

एनटीपीसी भूमि अधिग्रहण घोटाले की फाइलें दफ्तरों में फांक रहीं धूल
एनटीपीसी भूमि अधिग्रहण घोटाले की फाइलें दफ्तरों में फांक रहीं धूल

छत्तीसगढ़ में रायगढ़ जिले के लारा में प्रस्तावित बहुचर्चित एनटीपीसी भूमि अधिग्रहण घोटाले से जुड़ी जांच की फाइलें अब भी दफ्तरों में धूल फांक रही हैं.

  • Share this:
छत्तीसगढ़ में रायगढ़ जिले के लारा में प्रस्तावित बहुचर्चित नेशनल थर्मल पावर कॉरपोरेशन (एनटीपीसी) भूमि अधिग्रहण घोटाले से जुड़ी जांच की फाइलें अब भी दफ्तरों में धूल फांक रही हैं.

बता दें कि पहली जांच प्रक्रिया में करीब 1200 से ज्यादा लोगों की इस घोटाले में संलिप्तता पाई गई थी. इसकी जांच तीन वर्षों से लंबित पड़ी हुई है. यह पूरा घोटाला 5000 करोड़ से भी ज्यादा का आंका गया है.

इसमें राजस्व विभाग के बड़े अधिकारी, तहसीलदार, सरपंच, सचिव के साथ-साथ कुछ जनप्रतिनिधि और एनटीपीसी के आधा दर्जन से भी ज्यादा कर्मचारियों के नाम उजागर हुए हैं.



वहीं इस पूरे मामले में पुलिस को जांच के आदेश दिए गए हैं. लेकिन जमीन से जुड़े दस्तावेज उपलब्ध नहीं होने की वजह से इस प्रकरण की जांच फाइल आगे बढ़ ही नहीं पा रही है.
इससे कई रसूखदारों और भूमाफियाओं को बचाव का मौका भी मिल रहा है.

वहीं इस बारे में एसपी बी. एन. मीणा ने कहा कि एनटीपीसी लारा से संबंधित काफी सारे मामले हैं, जिनसे जुड़े हुए दस्तावेज प्राप्त करना अभी बाकी है. इस संदर्भ में लगातार जांची टीम द्वारा प्रयास किया जा रहा है. लेकिन अभी तक दस्तावेज प्राप्त नहीं होने से उसमें आगे की कार्रवाई नहीं की जा सकी है.

इसी के साथ एसपी ने कहा कि जैसे ही संबंधित मामले से जुड़े बाकी के दस्तावेज मिल जाएंगे, वैसे ही आगे की कार्रवाई शुरू कर दी जाएगी. उन्होंने कहा कि जमीन से जुड़ा मुद्दा होने के कारण इसमें पुलिस को कार्रवाई करने के लिए कई दस्तावेज चाहिए होते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज