अपना शहर चुनें

States

सड़क हादसों को रोकने के लिए पुलिस ने बनाया स्पेशल सेल, 45 डेंजर पॉइंट चिह्नित 

कार्यालय उप पुलिस अधीक्षक, यातायात
कार्यालय उप पुलिस अधीक्षक, यातायात

जिले में वर्ष 2016 में जहां जिले में सड़क हादसे में 234 मौतें हुई थी, वहीं साल 2017 में मौत का आंकड़ा 232 था. इस साल अक्टूबर ही सड़क हादसों में मौतों की संख्या 200 पार हो चुकी है.

  • Share this:
छत्तीसगढ़ के रायगढ़ जिले में बढ़ते सड़क हादसों को रोकने के लिए पुलिस एक अनूठी पहल करने जा रही है.  इसके तहत स्पेशल सेल का गठन किया गया है जो कि हादसे होने के बाद उनके कारणों का पता लगाएगी. इतना ही नहीं, पांच से अधिक हादसे होने वाली जगहों को ब्लैक स्‍‍‍‍‍पॉट के दायरे में लाकर हादसों को रोकने के प्रयास भी किए जाएंगे. पीएचक्यू से मिले निर्देश के बाद विभाग ने कार्य योजना बनाकर इस पर  पहल शुरू कर दी  है.

औद्योगिक जिले रायगढ़ में सड़क हादसों में कई लोगों को जान गंंवानी पड़ती है. बढ़ती दुर्घटनाओं के बीच एक राहत की बात यह है कि अब पुलिस सड़क हादसों को रोकने के प्रयास के लिए गंभीर हो गई है. जिले में कमेटी ने कुल 45 डेंजर पॉइंट निर्धारित किए हैं.

वर्ष 2016 में जहां जिले में सड़क हादसाें में 234 मौतें हुई थीं, वहीं साल 2017 में मौताें का आंकड़ा 232 था. इस साल अक्टूबर तक ही सड़क हादसों में मौतों की संख्या 200 पार हो चुकी है. पीएचक्यू ने इसके लिए राज्य स्तर पर लीड एजेंसी का गठन किया है, जो कि जिलों को इसके लिए ट्रेनिंग भी दे रही है. शासन से मिले निर्देश के मुताबिक जिले में भी एक कमेटी गठित की गई है, जिसमें पुलिस, आरटीओ, स्वास्थ्य विभाग और पीडब्‍ल्‍यूडी के अधिकारियों को शामिल किया गया है.



यह भी पढ़ें- जशपुर: विवाद के बाद चली गोली, ग्रामीणों ने आरोपियों का घेरा घर, हिरासत में आरोपी
यह भी पढ़ें:  मैं एक खिलाड़ी हूं और मैच में आखिरी शॉट तक जान लगा देता हूं: रमन सिंह 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज