अपना शहर चुनें

States

मोटर यंत्र अधिनियम के तहत यातायात विभाग ने स्कूली वाहनों की गहनता से जांच की

मोटर यंत्र अधिनियम के तहत यातायात विभाग ने स्कूली वाहनों की गहनता से जांच की
मोटर यंत्र अधिनियम के तहत यातायात विभाग ने स्कूली वाहनों की गहनता से जांच की

छत्तीसगढ़ के कवर्धा जिले में रविवार को यातायात विभाग ने स्कूली वाहनों की गहनता से जांच की.

  • Share this:
छत्तीसगढ़ के कवर्धा जिले में रविवार को यातायात विभाग ने स्कूली वाहनों की गहनता से जांच की. परिवहन विभाग की मदद से स्कूलों में चलने वाली बसों का फिटनेस टेस्ट किया गया. पहले दिन कवर्धा में 58 से ज्यादा बसों की जांच की गई.

नगर के कोतवाली थाना परिसर मैदान में सभी बसों को लाया गया, जहां पर एक-एक कर सभी वाहनों के कागजात की जांच पड़ताल की गई. इसके अलावा बसों की खिड़कियों में रेलिंग, फर्स्ट एड बॉक्स, सीसीटीवी कैमरे समेत अन्य तमाम तरह की सुरक्षा से संबंधित जरूरी जांच पड़ताल किए गए.

कुछ बसों में कमियां पाई गईं, जिसे जल्द सुधारने के लिए स्कूल संचालकों को निर्देशित किया गया है.



इस बारे में यातायात डीएसपी कामता प्रसाद दीवान ने कहा कि इसमें जो भी बसें फिटनेस टेस्ट में फेल हुई हैं, अगर वे सड़कों पर नजर आईं, तो उनपर सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं.
वहीं प्रदेश में स्कूल बसों की लगातार हो रही दुर्घटनाओं को देखते हुए और सुप्रीम कोर्ट की गाइड लाइन को ध्यान में रखते हुए जिला शिक्षा और परिवहन विभाग ने संयुक्त कार्रवाई की.

यातायात डीएसपी ने कहा कि मोटर यंत्र अधिनियम के तहत वाहनों की फिटनेस जांच के लिए निर्देशित किया गया है. इसमे सभी स्कूली बसों का रंग पीला होना चाहिए. साथ ही बसों में सीसीटीवी कैमरे, फर्स्ट एड बॉक्स समेत तमाम तरह के सुरक्षा संबंधित चीजों की चेकिंग की जा रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज