लाइव टीवी

रायपुर में 72 लाख रुपए में बने 11 ई-टॉयलेट, लेकिन लोगों ने नहीं किया अब तक इस्तेमाल

News18 Chhattisgarh
Updated: September 22, 2019, 10:06 AM IST
रायपुर में 72 लाख रुपए में बने 11 ई-टॉयलेट, लेकिन लोगों ने नहीं किया अब तक इस्तेमाल
रायपुर में ई-टॉयलेट योजना धरातल पर पूरी तरह उतर नहीं पाई है. (फाइल फोटो)

दो वर्षों में दो कंपनियों द्वारा अभी तक 11 जगहों पर टॉयलेट लगाने में 71.5 लाख रुपए खर्च हो चुके हैं, लेकिन इन ई-टॉयलेट्स का इस्तेमाल अब तक लोगों ने शुरू नहीं किया है.

  • Share this:
रायपुर. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) की राजधानी रायपुर में स्मार्ट सिटी (Smart City) की ई-टॉयलेट (e toilet) योजना धरातल पर पूरी तरह से उतर नहीं पाई है. ई—टॉयलेट के निर्माण का काम दो बार अलग-अलग ठेका कंपनियों को दिया गया. इसमें पहली कंपनी बेंगलुरु (Bengaluru) की थी, जिसने 40 जगहों पर ई-टॉयलेट बनाने का काम लिया था. एक साल से ज्यादा वक्त तक ये कंपनी रायपुर शहर में रही, लेकिन सिर्फ 5 ही टॉयलेट बना सकी.

6 नई जगहों पर बनाए गए टॉयलेट भी टेस्टिंग में उलझ गए

रायपुर स्थित अंबेडकर अस्पताल (Ambedkar Hospital) के सामने स्थित टॉयलेट भी इसी कंपनी ने बनाया था. उसके महीनों बाद केरल की एक और कंपनी को इस काम के लिए चुना गया. उसने 6 नई जगहों पर टॉयलेट बनाए, लेकिन वो भी टेस्टिंग में उलझ कर रह गई.

टॉयलेट-toilet
बेंगलुरु की कंपनी ने 40 जगहों पर ई-टॉयलेट बनाने का काम लिया था. (फाइल फोटो)


11 जगहों पर टॉयलेट लगाने में खर्च हो गए 71 लाख रुपए

इस तरह बीते करीब 2 वर्षों में 11 जगहों पर टॉयलेट के ढांचे ऐसे ही खड़े कर दिए गए हैं, लेकिन प्रशासन की उदासीनता के कारण इन टॉयलेट्स के निर्माण कार्य आज तक शुरू नहीं हो पाए हैं. बता दें कि एक टॉयलेट की लागत 6.5 लाख रुपए है. इन दो वर्षों में दो कंपनियों द्वारा अभी तक 11 जगहों पर टॉयलेट लगाने में 71.5 लाख रुपए खर्च हो चुके हैं, लेकिन इन ई-टॉयलेट्स का इस्तेमाल अब तक लोगों ने शुरू नहीं किया है.

ये भी पढ़ें:- ट्रेन की टिकट बुक करने से पहले जरूर पढ़ें ये खबर, मिली रही है ये खास सुविधा
Loading...

ये भी पढ़ें:- नगरीय निकाय चुनाव में जिताऊ प्रत्याशी की तलाश में अजीत जोगी, कर रहे ये तैयारी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रायपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 22, 2019, 9:40 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...