लाइव टीवी

छत्तीसगढ़ में हर साल मिल रहे हैं कैंसर के 20 हजार नए मरीज
Raipur News in Hindi

Mamta Lanjewar | News18 Chhattisgarh
Updated: February 4, 2020, 5:42 PM IST
छत्तीसगढ़ में हर साल मिल रहे हैं कैंसर के 20 हजार नए मरीज
आकंड़ों की मानें तो साल 2018 में कैंसर की बीमारी की वजह से दुनियाभर में 96 लाख से ज़्यादा मौतें हुई हैं.

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में कैंसर (Cancer) के आंकड़े लगातार भयावह हो रहे हैं. अभी राज्य में करीब 75 हजार के करीब कैंसर के मरीज हैं.

  • Share this:
रायपुर. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में कैंसर (Cancer) के आंकड़े लगातार भयावह हो रहे हैं. अभी राज्य में करीब 75 हजार के करीब कैंसर के मरीज हैं. इसमें हर साल 20 हजार मरीजों की बढ़ोतरी हो रही है. गंभीर बात यह है कि लगातार किसान (Farmer) और छोटे बच्चे यहां तक कि नवजात बच्चों में भी कैंसर के लक्षण मिल रहे हैं. राज्य के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल अंबेडकर अस्पताल में विश्व कैंसर दिवस से ओंको पीडियाट्रिक ओपीडी शुरू की गई है. इसका कारण यह है कि छत्तीसगढ़ में लगातार मासूम बच्चे भी कैंसर के शिकार होते जा रहे हैं.

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में भी कैंसर की बीमारी भयावह रूप लेते जा रहीं है. स्थिति यह है कि राज्य के क्षेत्रीय कैंसर अनुसंधान केंद्र में हर साल कितने मरीज बढ़ रहे हैं कि इसीसे अंदाजा लगाया जा रहा है कि पुराने कैंसर अनुसंधान केंद्र और वार्डों में मरीजों को जब जगह कम पड़ने लगी तो नया भवन बनाया गया, लेकिन अब भी हालात ऐसे हैं कि ओपीडी में पैर रखने की जगह नहीं बचती.

हर साल 20 हजार नए मरीज
राज्य के क्षेत्रीय कैंसर अनुसंधान केंद्र के प्रमुख डॉ विवेक चौधरी के मुताबिक अभी इस वक्त राज्य में करीब 75 हजार कैंसर के मरीज हैं. वहीं इन मरीजों की संख्या में हर साल 20 हजार नए मरीज बढ़ रहे हैं. क्षेत्रीय कैंसर अनुसंधान केंद्र के प्रमुख डॉ. विवेक चौधरी का कहना है कि अभी यहां 60 हजार मरीजों का ईलाज किया जा रहा है, जिसमें हर साल छह हजार नए मरीज जुड़ते हैं.



world cancer day one out of every 10 men in india is at risk of cancer one in 15 patients will die of disease
कैंसर के मरीज छत्तीसगढ़ में मरीज. सांकेतिक फोटो.




इसलिए ज्यादा नुकसान
मेकाहारा अस्पताल में सर्जरी विभाग की एचओडी डॉ. शिप्रा सिंह का कहना है कि लगातार और जरूरत से ज्यादा पैस्ट्रीसाईट का इस्तेमाल किसानों के लिए जानलेवा हो रहा है. किसान भी कैंसर के मरीज हो रहें हैं. क्योंकि न केवल छिड़काव के समय तो वह कीटनाशक के संपर्क में रहते हैं. बल्कि जब फसल तैयार होती है वो घर में उसे ही इस्तेमाल करते हैं. वहीं इन फसलों और फल और सब्जियों के इस्तेमाल करने वाले लोग भी कैंसर के मरीज हो रहे हैं. सबसे ज्यादा स्थिति खराब हो रही है फैक्ट्री से निकलने वाले जहरीले धुएं और फैक्ट्रियों का जहरीला पानी नदी नालों में बहाने से. इससे स्कीन और लंग्स कैंसर के मरीज सबसे ज्यादा बढ़ रहे हैं.

ये भी पढ़ें:

छत्तीसगढ़ में 5 सालों में बंद हो गए 2 हजार 811 सरकारी प्राइमरी स्कूल, सेकेंडरी स्कूलों में लगा ताला

पंचायत चुनाव: वोटर्स को वश में करने तंत्र-मंत्र का प्रयोग, दरवाजों पर लटके मिले नींबू-मिर्च! 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रायपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 4, 2020, 5:42 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading