Assembly Banner 2021

समय परिवर्तनशील होता है और ये कांग्रेस के लिए ऊर्जावान होगा: राजनीतिक विश्लेषक

रविकांत कौशिक,राजनीतिक विश्लेषक

रविकांत कौशिक,राजनीतिक विश्लेषक

कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के लगातर छत्तीसगढ़ दौरे से कांग्रेस कार्यकर्ताओं को संजीवनी मिल रही है. ऐसा राजनीतिक जानकारों और कांग्रेस के कार्यकर्ताओं का कहना है.

  • Share this:
कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के लगातर छत्तीसगढ़ दौरे से कांग्रेस कार्यकर्ताओं को संजीवनी मिल रही है. ऐसा राजनीतिक जानकारों और कांग्रेस के कार्यकर्ताओं का कहना है. वहीं बीजेपी राहुल गांधी के दौरे और उनके प्रभावों को सिरे से खारिज कर रही है. मालूम हो कि छत्तीसगढ़ राज्य गठन के बाद 3 बार लोकसभा का चुनाव हुआ. तीनों चुनाव में कांग्रेस को करारी हार मिली. 11 में से एक ही सीट पर कांग्रेस को संतुष्ट होना पड़ा. वर्ष 2004 के चुनाव में महासमुंद लोकसभा सीट से अजीत जोगी ने जीत दर्ज की थी. और बाकि 10 में कांग्रेस की हार हुई थी.

वहीं वर्ष 2009 में कोरबा से चरणदास महंत एक मात्र सीट जीतने में सफल हुए थे. 2014 के लोकसभा चुनाव में 11 में से एक सीट दुर्ग से ताम्रध्वज साहू ने जीती थी. कुल मिलाकर तीनों चुनावों में कांग्रेस को बड़ी पराजय हाथ लगी था. ऐसे में अब राहुल गांधी के लगातार दौरे को कांग्रेस नेता संजीवनी के रूप में देख रहे हैं.

कांग्रेस प्रवक्ता विकास तिवारी ने कहा कि अभी राहुल गांधी के आने के बाद से कांग्रेस पार्टी के बूथ स्तर से लेकर ब्लॉक स्तर के कार्यकर्ताओं में काफी उत्साह और उमंग है. वहीं उन्होंने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि बीजेपी का ऐसा कोई सांसद नहीं है जो यहां की धरातल पर बड़ी योजना ला सके. वहीं उन्होंने छत्तीसगढ़ की सभी 11 लोकसभा सीटों पर कांग्रेस की जीत दर्ज करने का दावा किया है.



वहीं बीजेपी प्रवक्ता सच्चिदानंद उपासने ने कहा कि बीजेपी को अपने राष्ट्रीय नेतृत्व और विशेष कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कार्यकुशलता पर पूरा भरोसा है. वहीं उनका यह भी कहना है छत्तीसगढ़ लोकसभा की सभी 11 सीटों को जीतने का पूरा प्रयास रहेगा. उपासने कहा कि 'राहुल का छत्तीसगढ़ आना भारतीय जनता पार्टी के लिए कोई बड़ी चुनौती नहीं है.'
इधर, राजनीति के जानकार रविकांत कौशिक का कहना है कि राहुल गांधी के घोषणा और उसके त्वरित पालन का असर लोकसभा चुनाव में होगा, क्योंकि समय परिवर्तनशील होता है. वहीं राहुल गांधी के दौरे और घोषणा दोनों कांग्रेस के लिए संजीवनी की तरह है.

ये भी पढ़ें:- लोकसभा चुनाव: जमीन लौटाने के बहाने किसानों को साधने की कोशिश में कांग्रेस!

ये भी पढ़ें:- बस्तर से राहुल गांधी का चुनावी शंखनाद, कहा- 'आपसे किया वादा कांग्रेस ने पूरा किया'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज