छत्तीसगढ़: प्रशासनिक फेरबदल के बाद इन्हें मिल सकती है DGP की कमान
Raipur News in Hindi

छत्तीसगढ़: प्रशासनिक फेरबदल के बाद इन्हें मिल सकती है DGP की कमान
गिरधारी नायक,(फाइल फोटो)

प्रशासनिक फेरबदल के बाद पुलिस महानिदेशक मुकेश गुप्ता को पीएचक्यू अटैच किया गया है. अटकलों की मानें तो वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी गिरधारी नायक को छत्तीसगढ़ का नया DGP बनाया जा सकता है.

  • Share this:
छत्तीसगढ़ में कांग्रेस ने अपनी सरकार बनाते ही प्रशासनिक फेरबदल का दौर शुरू कर दिया है. मुख्यमंत्री बनेती ही भूपेश बघेल ने एडमिनिस्ट्रेटिव लेवल पर एक बड़ा बदलाव किया है. भूपेश बघेल ने पुलिस विभाग के कई अधिकारियों के प्रभार बदल दिए. पुलिस महानिदेशक मुकेश गुप्ता से ईओडब्ल्यू और एसीबी का चार्ज ले लिया गया है. अब उन्हें पीएचक्यू में विशेष महानिदेशक बनाया गया है. मुकेश गुप्ता को बगैर प्रभार के पीएचक्यू में अटैच किया गया है. इसके साथ ही 1988 बैच के आईपीएस अधिकारी संजय पिल्ले और 1989 बैच के अशोक जुनेजा के प्रभार में भी फेरबदल किया गया है.

(ये भी पढ़ें: विधानसभा चुनाव में मिली हार के बाद अब ‌BJP में नेता प्रतिपक्ष को लेकर जद्दोजहद )

प्रशासनिक सर्जरी के बाद नक्सल आपरेशन के स्पेशल डीजी डीएम अवस्थी को ईओडब्ल्यू और एसीबी का अतिरिक्त प्रभार दिया गया है. आईपीएस अधिकारी संजय पिल्ले को महानिदेशक प्रशिक्षण एवं छत्तीसगढ़ सशस्त्र बल से हटाकर विशेष महानिदेशक गुप्तवार्ता का प्रभार दिया है. तो वहीं अशोक जुनेजा को अतिरिक्त पुलिस महानिदेश गुप्त वार्ता से हटाकर अब अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक प्रशिक्षण में पदस्थ किया गया है.



(ये भी पढ़ें: मुख्यमंत्री बनते ही भूपेश बघेल ने की बड़ी प्रशासनिक 'सर्जरी', बदले गए इनके प्रभार)
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा किए गए इस फेरबदल की सबसे अहम बात है आईपीएस अधिकारी मुकेश गुप्ता से EOW और ACB से हटाकर पुलिस मुख्यालय में अटैच किया जाना. अब ऐसे कयास लगाए जा रहे है कि जल्द किसी नए अधिकारी को DGP के पद पर पदस्त किया जा सकता है. सत्ता में आने के बाद कांग्रेस की ये कोशिश रहेगी की ऐसे अधिकारी को पुलिस महानिदेश की कमान दी जाए जिनकी छवि साफ और तेज तर्रार भी हो.

(ये भी पढ़ें: VIDEO: छत्तीसगढ़ में पे-थाई चक्रवात का असर, कई इलाकों में बारिश )
इन्हे मिल सकती है DGP की कमान

शासन द्वारा आईपीएस अधिकारी और पुलिस महानिदेशक मुकेश गुप्ता को बगैर प्रभार के पीएचक्यू में अटैच कर दिया है. अब अटलके ये लगाई जा रही है कि इनकी जगह किसी नए अधिकारी को DGP बनाया जा सकता है. छत्तीसगढ़ में बनी नई सरकारी में चल रही चर्चाओं की माने तो वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी गिरधारी नायक को छत्तीसगढ़ के नए डीजीपी बनाया जा सकता है.

(ये भी पढ़ें: राहुल गांधी का ट्वीट- 'कंधे से कंधा मिला कर हम अब नए छत्तीसगढ़ का निर्माण करेंगे')
क्यों DGP बन सकते हैं गिरधारी नायक

फिलहाल गिरधारी नायक जेल डीजी का पद संभाल रहे है. बता दें कि गिरधारी नायक जेल और होमगार्ड के शीर्षस्थ पदों में रह चुके हैं. अपनी सीनियारिटी और लंबे एडमिनिस्ट्रेटि एक्सपीरिएंस की बदौलत गिरधारी नायक पुलिस महानिदेशक के पद के प्रबल दावेदार माने जा रहे है. एक साफ छवि वाले अधिकारी और कड़क प्रशासनिक ऑफिसर के तौर पर गिरधारी नायक को जाना जाता है. होम गार्ड में रहते हुए उन्होने अपने विभाग के लिए कई अच्छे काम किए. गिरधारी नायक ने होम गार्ड के नियमों में भी काफी बदलाव भी किया. 1983 बैच के अफसर गिरधारी नायक को लंबा प्रशासनिक अनुभव भी है. छत्तीसगढ़ के तेजतर्रार अफसरों में भी उनका नाम शुमार है.

(ये भी पढ़ें: छत्तीसगढ़: भूपेश बघेल के मंत्रिमंडल में 13 की जगह, रेस में हैं इतने दावेदार)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज