कृषि मंत्री रविंद्र चौबे को किया गया लखनऊ के PGI अस्पताल शिफ्ट, जल्द स्वस्थ होने की हो रही कामना

मंत्री रविद्र चौबे का हाल जानने कांग्रेस के कई आला नेता अस्पताल पहुंच चुके हैं.

News18 Chhattisgarh
Updated: April 27, 2019, 3:30 PM IST
कृषि मंत्री रविंद्र चौबे को किया गया लखनऊ के PGI अस्पताल शिफ्ट, जल्द स्वस्थ होने की हो रही कामना
रविंद्र चौबे (फाइल फोटो)
News18 Chhattisgarh
Updated: April 27, 2019, 3:30 PM IST
छत्तीसगढ़ के कृषि मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस विधायक रविंद्र चौबे की तबियात शनिवार सुबह अचानक खराब हो गई थी. मंत्री चौबे को लखनऊ में दिल का दौरा पड़ा है. सीने में दर्द की शिकायत के बाद उन्हें लखनऊ के स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उनका उपचार किया जा रहा है. सीएम भूपेश बघेल ने अस्पताल के डॉक्टरों से रविंद्र चौबे के स्वास्थ्य को लेकर बातचीत की है. सीएम बघेल ने अपने प्रमुख सचिव गौरव द्विवेदी को अस्पताल भेजा है. मंत्री रविद्र चौबे का हाल जानने कांग्रेस के कई आला नेता अस्पताल पहुंच चुके हैं. मिली जानकारी के मुताबिक मंत्री रविंद्र चौबे को लखनऊ के सहारा हॉस्पिटल से पीजीआई शिफ्ट किया गया है. बेहतर उपचार के लिए संजय गांधी पोस्टग्रेजुएट इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस लाया गया है.

छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने भी रविंद्र चौबे के सेहत को लेकर एक ट्वीट किया है. उन्होने एक ट्वीट के लिए उनके जल्द स्वस्थ होने की कामना की है.



वहीं छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री टीएम सिंहदेव ने भी मंत्री रविंद्र चौबे के जल्द स्वस्थ होने की कामना की है.
Loading...




 

राज्यसभा सांसद सरोज ने भी एक ट्वीट के लिए मंत्री रविंद्र चौबे के ठीक होने की कामना की है.


ये भी पढ़ें:

PHOTOS: सरपंच से मंत्री तक का सफर तय करने वाले रविंद्र चौबे से जुड़ी खास बातें 

छत्तीसगढ़: रविंद्र चौबै कांग्रेस के इस 'गढ़' में करते हैं राज, 6 बार लगातार हासिल की थी जीत 

मिसाल हैं तीजन बाई: औपचारिक शिक्षा नहीं होने के बावजूद मिली डॉक्टर की उपाधि  

क क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स   

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रायपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 27, 2019, 3:27 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...