Home /News /chhattisgarh /

Success Story: ओलंपियन साइना नेहवाल को टक्कर दे रही 20 साल की लड़की, बनी इंडिया में नंबर-1

Success Story: ओलंपियन साइना नेहवाल को टक्कर दे रही 20 साल की लड़की, बनी इंडिया में नंबर-1

छत्तीसगढ़ के दुर्ग की बैडमिंटन खिलाड़ी की तुलना साइना नेहवाल से की जा रही है.

छत्तीसगढ़ के दुर्ग की बैडमिंटन खिलाड़ी की तुलना साइना नेहवाल से की जा रही है.

Badminton Player Akarshi Kashyap Inside Story: छत्तीसगढ़ की 20 साल की लड़की आकर्षी कश्यप इन दिनों पूरे देश में चर्चा में है. बैडमिंटन खेल को पसंद करने वाले आकर्षी की तुलना अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी साइना नेहवाल से कर रहे हैं. आकर्षी ने हाल ही में उस खिलाड़ी को हराया, जिसने साइन नेहवाल को मात दी थी. आकर्षी कहती हैं कि उनका टारगेट ओलपिंक गेम्स में गोल्ड मेडल लाना है. वर्तमान में अपनी रैंकिंग को सुधारने में लगी हैं, जिससे वे 2024 में होने वाले पेरिस ओलंपिंक और 2028 ओलंपिक में भाग लेकर भारत का प्रतिनिधित्व कर सकें.

अधिक पढ़ें ...

रायपुर/दुर्ग. छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले की रहने वाली 20 वर्ष की लड़की आकर्षी कश्यप इन दिनों फिर से चर्चा में हैं. आकर्षी की तुलना देश में बैडमिंटन सेंसेशन साइना नेहवाल से किया जा रहा है. क्योंकि हाल ही में दिल्ली में हुए इंडिया ओपन बैडमिंटन चैंपियनशिप के क्वार्टर फाइन मुकाबले में आकर्षी ने महाराष्ट्र की मालविका बंसोड़ को हराया. मालविका वही खिलाड़ी हैं, जिन्होंने साइना नेहवाल को मात दी थी. हालांक इस प्रतियोगिता के सेमीफाइनल मुकाबले में आकर्षी को हार का सामना करना पड़ा. आकर्षी के खेल की हर ओर सराहना हो रही है. बैडमिंटन के फैंस आकर्षी की तुलना साइना नेहवाल से कर रहे हैं.

छत्तीसगढ़ के दुर्ग की रहने वाली आकर्षी कश्यप अपने आयु वर्ग में बैंडमिंटन की वुमेन रैंकिंग में देश की नंबर-1 खिलाड़ी हैं. आकर्षी ने बीते 14 जनवरी को मालविका बंसोड़ को 21-12, 21-15 से हराया था. बैंडमिंटन में विश्व में 76वें स्थान की रैंकिग के साथ आकर्षी वर्तमान में खेल रही हैं. पिछले 2 सालों से सीनियर रैंकिंग में इंडिया नंबर-1 पायदान पर आकर्षी बनीं हुई हैं. आकर्षी ने कम उम्र में ही बैडमिंटन खेल की शुरुआत भिलाई के सिविक सेंटर स्टेडियम से की. शुरुआती दौर में उनके कोच बैडमिंटन के राष्ट्रीय खिलाड़ी व भारतीय टीम के कोच रहे संजय मिश्रा थे. अंडर-14 में खेलते हुए आकर्षी ने देश की रैंकिंग में अपना स्थान बना लिया था. अंडर-16 में भी वो अपने वर्ग में देश की नंबर-1 खिलाड़ी रहीं.

अब तक 50 से ज्यादा गोल्ड मेडेल
आकर्षी कश्यप के पिता संजीव कश्यप पेश से डॉक्टर हैं. वे दुर्ग में ही डर्मेटोलॉजिस्ट हैं. आकर्षी कहती हैं कि उनके पिता ने ही उन्हें समय की कीमत बताई. 8 साल की उम्र से ही आकर्षी ने बैडमिंटन खेलना शुरू किया. बैडमिंटन में आकर्षी के लगन और प्रतिभा को देखते हुए उनके पिता ने उन्हें एडवांस ट्रेनिंग के लिए हैदराबाद भेजा. पिता के साथ ही मां ने आकर्षी का पूरा खयाल रखा. इसीलिए मां हर टूर्नामेंट में उसके साथ रहती हैं.

Akarshi Kashyap badminton Ranking, Saina Nehwal world Rainkingh, badminton Player Aakarshi Kashyap Age, Aakarshi Kashyap News, Badminton tournament, Sports, Indian Player, Aakarshi Kashyap Gold medals, Aakarshi Kashyap in Durg, Raipur News, Google News Durg, Chhattisgarh Google News, Google News, in Chhattisgarh, Chhattisgarh News, Durg News, छत्तीसगढ़ न्यूज, दुर्ग न्यूज, बैडमिंटन प्लेयर आकर्षी कश्यप

बैडमिंटन खिलाड़ी आकर्षी कश्यप अपने वर्ग में देश की नंबर-1 खिलाड़ी हैं.

आकर्षी कश्यप के नाम पर अब तक 50 से ज्यादा गोल्ड मेडल, 22 सिल्वर मेडल और 15 ब्रॉन्ज मेडल हैं. आकर्षी ने महज 20 साल की उम्र में ही कई बड़ी उपलब्धियां अपने नाम की हैं. अंडर-15 सिंगल्स में नेशनल चैंपियन, अंडर-17 और 19 सिंगल्स में दो बार नेशनल चैंपियन, खेलो इंडिया में गोल्ड मेडलिस्ट, एशियन गेम्स में गोल्ड मेडलिस्ट, बहरीन इंटरनेशनल चैलेंज में आकर्षी ब्रॉन्ज जीत चुकी हैं. आकर्षी को 2018 एशियाई खेलों, जकार्ता में भारत का हिस्सा बनने के लिए चुना गया. आकर्षी कहती हैं कि उनका टारगेट ओलपिंक गेम्स में गोल्ड मेडल लाना है. वर्तमान में अपनी रैंकिंग को सुधारने में लगी हैं, जिससे वे 2024 में होने वाले पेरिस ओलंपिंक और 2028 ओलंपिक में भाग लेकर भारत का प्रतिनिधित्व कर सकें.

Tags: Indian badminton players, Indian sports

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर