Home /News /chhattisgarh /

अंतागढ़ टेपकांड मामले में राजनीतिक षड्यंत्र के तहत मुझे फसाया जा रहा: अमित जोगी

अंतागढ़ टेपकांड मामले में राजनीतिक षड्यंत्र के तहत मुझे फसाया जा रहा: अमित जोगी

रायपुर की पूर्व महापौर किरणमयी नायक ने पंडरी थाने में अंतागढ़ टेपकांड को लेकर मंतूराम पावर, पूर्व सीएम अजित जोगी, पूर्व विधायक अमित जोगी, पूर्व सीएम डॉ. रमन सिंह के दामाद पुनीत गुप्ता और पूर्व मंत्री राजेश मूणत के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाया है.

अधिक पढ़ें ...
छत्तीसगढ़ के बहुचर्चित अंतागढ़ टेपकांड मामले की जांच तेज होते जा रही है. इस मामले में छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजित जोगी का भी नाम सामने आया है. उन्होने अपने ऊपर हुए एफआईआर को चुनौती देते हुए हाईकोर्ट में याचिका दायर किया था जिसमे शुक्रवार को अजित जोगी के पुत्र अमित जोगी ने अधिवक्ता निर्मल शुक्ला के साथ अपने पिता का पक्ष रखा. मामले की सुनवाई के बाद हाईकोर्ट ने नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक की जनहित याचिका पर दिए गए आदेश को बरकरार रखा है. साथ ही कल हुए मंतूराम पवार, डॉ.पुनीत गुप्ता, पूर्व मंत्री राजेश मूणत की याचिका को भी डिवीजन बैंच के आदेश के मुताबिक बरकरार रखा है. मामले में कोर्ट ने कहा कि डिवीजन बैंच ने शासन से SIT को लेकर जवाब मांगा है. पहले SIT से संबंधित जवाब आ जाए उसके बाद 14 मार्च को सभी की याचिकाओं पर एक साथ सुनवाई होगी.

बता दें कि रायपुर की पूर्व महापौर किरणमयी नायक ने पंडरी थाने में अंतागढ़ टेपकांड को लेकर मंतूराम पावर, पूर्व सीएम अजित जोगी, पूर्व विधायक अमित जोगी, पूर्व सीएम डॉ. रमन सिंह के दामाद पुनीत गुप्ता और पूर्व मंत्री राजेश मूणत के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाया है. जिसमे मूणत,पुनीत गुप्ता और मंतूराम की अग्रिम जमानत याचिका को रायपुर कोर्ट ने खारिज कर दिया है. उसके बाद तीनों ने हाईकोर्ट में अपने ऊपर हुए एफआईआर को चुनौती देते हुए याचिका दायर किया है. तीनों की याचिका पर कल सुनवाई हो चुकी है.

इन सभी याचिकाकर्ताओं के अलावा मरवाही के पूर्व विधायक अमित जोगी की याचिका पेश होना अभी बाकी है. अमित जोगी ने अभी तक अपनी याचिका दायर नहीं किया है। मीडिया से खास बातचीत करते हुए अमित जोगी ने कहा कि न्यायालय पर उन्हें पूरा भरोसा है. न्यायालय से मुझे संरक्षण प्राप्त है इसलिए यहां मैं खुला घूम रहा हूं. मैने कुछ गलत नही किया है. ये राजनीतिक षड्यंत्र है. इसे सीएम भूपेश बघेल देखें, पुलिस देखे, हिम्मत है तो गिरफ्तार भी कर लें. याचिका दायर करने के मामले में अमित जोगी ने कहा कि न्यायालय से मुझे और बाकी लोगों को संरक्षण मिला है. मुझे नही लगता कि मुझे कुछ करने की अभी आवश्यकता है. फिर भी समय आने पर देखा जाएगा.

ये भी पढ़ें:

छत्तीसगढ़ पुलिस ने तैयार किया वेब पोर्टल, FIR की सर्टिफाइड कॉपी होगी अपलोड 

कांग्रेस के मंत्री ने पत्नी को बनाया विशेष सहायक, भाजपा ने लगाया परिवारवाद का आरोप  

निलंबित आईपीएस मुकेश गुप्ता को मिली नान और फोन टेपिंग मामले की FIR कॉपी 

छत्तीसगढ़ विधानसभा: इन विभागों के लिए दस हजार 65 करोड़ से ज्यादा की अनुदान मांग पारित

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स    

Tags: Bilaspur district, Bilaspur news, Chhattisgarh news, Raipur news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर