• Home
  • »
  • News
  • »
  • chhattisgarh
  • »
  • विधानसभा चुनाव: दुर्ग कलेक्टर के इस आदेश को पूरे प्रदेश में लागू करने की मांग

विधानसभा चुनाव: दुर्ग कलेक्टर के इस आदेश को पूरे प्रदेश में लागू करने की मांग

सांकेतिक तस्वीर.

सांकेतिक तस्वीर.

विधानसभा चुनाव में दुर्ग के कलेक्टर उमेश अग्रवाल ने गर्भवती महिलाओं व दुधमुहे बच्चों की मां को चुनाव कार्य में नहीं लगाने के आदेश जारी किए है.

  • Share this:
छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनाव को लेकर तिथि का एलान हो गया है. इस बीच दुर्ग जिले के कलेक्टर उमेश अग्रवाल ने चुनाव कार्य में गर्भवती महिलाओं व दुधमुहे बच्चों की मां को चुनाव कार्य में नहीं लगाने के आदेश जारी किए है. इस आदेश को पूरे राज्य में लागू करनें की मांग अब उठनें लगी है. शासकीय विभागों की महिला कर्मचारी ये मांग कर रही हैं.

छत्तीसगढ़ में 12 नवंबर को पहले चरण और 20 नवंबर को दूसरे चरण का मतदान होना है. इसके लिए शासकीय कर्मचारियों की चुनाव ड्यूटी लगाई गई है, जिसमें महिला कर्मचारी अधिकारी भी हैं. दुर्ग कलेक्टर उमेश अग्रवाल ने एक आदेश जारी किया है, जिसके तहत् गर्भवती महिलाओं और दुधमुहे बच्चें की माताओं को चुनाव कार्य से अलग रखने को कहा गया है. इस आदेश की सरहाना महिला कर्मचारी कर रही हैं.

यह भी पढ़ें: सर्वे: छत्तीसगढ़-राजस्थान और मध्य प्रदेश में BJP को करारा झटका, कांग्रेस की हो सकती है वापसी

राजधानी रायपुर में एक शासकीय विभाग में कार्यरत महिला कर्मचारी शीला का कहना है कि दुर्ग कलेक्टर के उक्त आदेश को पूरे प्रदेश में लागू करना चाहिए. इससे गर्भवती महिला कर्मचारियों को राहत मिलेगी. कर्मचारियों का कहना है कि चुनावी कार्य में उन महिलाओं को काफी परेशानियां होती हैं, जिनके छोटे बच्चे हैं या महिला गर्भवती हो.

यह भी पढ़ें: राजनांदगांव का चुनाव दूसरे चरण में कराने के लिए कांग्रेस ने EC को लिखा पत्र

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज