विधानसभा सत्र: बैलगाड़ी से पहुंचा विपक्ष, डेंगू पर घिरी सरकार

छत्तीसगढ़ विधानसभा के विशेष सत्र के दूसरे दिन की कार्रवाई बुधवार को शुरू हो गई है. इससे पहले तय कार्यक्रम के अनुसार कांग्रेसी विधायक बैलगाड़ी से विधानसभा पहुंचे.

Surendra Singh | News18 Chhattisgarh
Updated: September 12, 2018, 12:39 PM IST
विधानसभा सत्र: बैलगाड़ी से पहुंचा विपक्ष, डेंगू पर घिरी सरकार
बैलगाड़ी पर सवार प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष भूपेश बघेल व अन्य विधायक.
Surendra Singh | News18 Chhattisgarh
Updated: September 12, 2018, 12:39 PM IST
छत्तीसगढ़ विधानसभा के विशेष सत्र के दूसरे दिन की कार्रवाई बुधवार को शुरू हो गई है. इससे पहले तय कार्यक्रम के अनुसार कांग्रेसी विधायक बैलगाड़ी से विधानसभा पहुंचे. कांग्रेस के राजीव भवन में कांग्रेसी विधायक एकत्रित हुए. इसके बाद सुबह करीब दस बजे विधानसभा के लिए बैलगाड़ी से निकले. विधानसभा में विपक्ष ने प्रदेश में डेंगू से हो रही मौतों व किसानों के मुद्दे पर सरकार को घेरा.

विपक्ष ने सदन में कहा कि 1350 किसानो ने आत्महत्या की है. बस्तर में मक्का को समर्थन मूल्य पर खरीदने की बात सरकार कर रही है, लेकिन बस्तर का किसान कम दाम पर मक्का को बेचने पर मजबूर है. विपक्ष के विधायक मोहन मरकाम ने सदन में सत्तापझ को घेरा. मोहन मरकाम ने कहा कि बीजेपी प्रदेश में सिमट रही है. महंगाई दिन प्रतिदिन बढ़ रही है. धान बोनस किसानों को दिया जाये, लेकिन पूरे पांच साल का. प्रदेश में डेंगू से 42 लोगों की मौत पर विपक्ष ने स्वास्थ्य मंत्री अजय चन्द्राकर को घेरा.

विधानसभा के विशेष सत्र में मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने सदन के पटल पर अनुपूरक बजट को रखा. 2 हजार 417 करोड़ 18 लाख 100 रुपये का अनुपूरक बजट सदन में रखा गया. उच्च शिक्षा मंत्री प्रेम प्रकाश पांडेय ने सदन में छत्तीसगढ़ विश्वविद्यालय संसोधन विधेयक को भी पटल पर रखा. सदन ने विधेयक को पास कर दिया. इससे पहले डीजल पेट्रोल पर वैट कम करने की मांग को लेकर सदन में विपक्ष ने स्थगन की मांग भी की. कांग्रेस विधायक संतराम नेताम ने कहा कि हमारी विधायकी के विशेषाधिकार का हनन हुआ है. विधानसभा के बाहर करीब एक घंटे तक ​कांग्रेसी विधायकों को रोका गया.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर