अपना शहर चुनें

States

पुलवामा अटैक पर बोले बाबा रामदेव- अब चुप होकर बैठने से काम नहीं चलेगा

बाबा रामदेव (फाइल)
बाबा रामदेव (फाइल)

पुलवामा में हुई घटना पर रामदेव का कहना है कि पूरी दुनिया अब हमारी तरफ देख रही है. दुश्मन देश हमारा सबकुछ बर्बाद करने पर अमादा हो और हम चुप होकर बैठे रहें इससे काम नहीं बनेगा.

  • Share this:
योग गुरु रामदेव मंगलवार को रायपुर में अपने डिपार्टमेंटल स्टोर पतंजलि परिधान के उद्घाटन लिए आए थे. पुलवामा में हुई घटना पर रामदेव का कहना है कि पूरी दुनिया अब हमारी तरफ देख रही है. दुश्मन देश हमारा सबकुछ बर्बाद करने पर अमादा हो और हम चुप होकर बैठे रहें इससे काम नहीं बनेगा. उन्होंने एक तरह से मोदी सरकार की ओर इशारा करते हुए कहा कि सरकार को दिखाना होगा कि भारत कमजोर नहीं है, इसके लिए अब आरपार की लड़ाई लड़ने की जरूरत है.

रामदेव ने कहा कि छत्रपति शिवाजी महाराज ने 360 किले जीते. एक विजेता थे, एक योद्धा थे उनके सपनों का एक मजबूत भारत बनाना आज के दिन सबसे बड़ी आवश्यकता है. एक हमला हुआ उसके बाद दूसरा आतंकवादी हमला हो जाता है. इस समय भारत सरकार को एक बड़ा कदम उठाने चाहिए. कूटनीति के तौर पर और रणनीति के तौर पर पाकिस्तान को परास्त करने के सिवाय भारत के सामने कोई विकल्प नहीं है.

इन 70 वर्षों में पाकिस्तान के नापाक हरकतों के कारण हमने 50 हजार से ज्यादा अपने देश के जवानों की, सैनिकों की, अर्धसैनिक बलों की आम नागरिकों की शहादत दी. चलिए अब पाकिस्तान के तीन टुकड़े कर देते हैं. बलुचिस्तान में जो आजादी के लिए संघर्ष कर रहे हैं वहां आजादी दिलाए. पाक अधिकृत कश्मीर का विलय करें. वहां आतंकवादी कैंपों को ध्वस्त करके भारत का नक्शा जो हम पढ़ाते हैं कम से कम अपनी जमीन तो आए. हम शांति का नारा लगाते रहें और वो हमारे घर में घूसकर हमला करें यह ठीक नहीं है.



हालांकि रामदेव बाबा से जब काला धन के मुद्दे पर सवाल किया गया तो वो हर बार इस सवाल से बचते नजर आए. उन्होंने इस पर कोई जवाब नहीं दिया. इस सवाल के जवाब में रामदेव ने कहा कि इस वक्त भारत की सुरक्षा एक बड़ा मुद्दा है. काला धन पर फिर कभी बात की जाएगी. बता दें रामदेव ने पिछले लोकसभा चुनाव के समय विदेशों में जमा काला धन को एक बड़ा मुद्दा बनाया था.
ये भी पढ़ें: पुलवामा अटैक: CRPF का सर्वधर्म एकता सन्देश- मजहब नहीं सिखाता आपस में बैर रखना 
ये भी पढ़ें: लोकसभा चुनाव के लिए आचार संहिता लगने से पहले चयनित पटवारी कर रहे ये मांग  

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज