पहली महिला सांसद के नाम पर पूरे प्रदेश में डायग्नोस्टिक सेंटर शुरू करेगी बघेल सरकार

मिनी माता सतनामी समाज के गुरु गद्दीनसीन अगमदास की पत्नी थीं. (सीएम भूपेश बघेल की फाइल फोटो)

मिनी माता सतनामी समाज के गुरु गद्दीनसीन अगमदास की पत्नी थीं. (सीएम भूपेश बघेल की फाइल फोटो)

मुख्यमंत्री बघेल (Chief Minister Bhupesh Baghel) ने इस अवसर पर कहा,‘‘गुरु घासीदास बाबा का महान संदेश ‘मनखे मनखे एक समान’ समानता का सिद्धांत हमारे संविधान का भी अहम हिस्सा है.

  • Share this:
रायपुर. छत्तीसगढ़ सरकार (Chhattisgarh Government) ने क्षेत्र की पहली महिला सांसद मिनी माता (Mini Mata) के नाम पर राज्य के निगम क्षेत्रों में डायग्नोस्टिक सेंटर (Diagnostic Center) आरंभ करने का फैसला किया है. राज्य के वरिष्ठ अधिकारियों ने शुक्रवार को बताया कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बाबा गुरु घासीदास जयंती के अवसर पर भिलाई के सेक्टर छह में गुरु घासीदास सेवा समिति द्वारा आयोजित कार्यक्रम को संबोधित किया. इस दौरान उन्होंने राज्य के निगम क्षेत्रों में मिनी माता के नाम पर डायग्नोस्टिक सेंटर आरंभ करने की घोषणा की है.




सुविधा देने के लिए छात्रावास के निर्माण की घोषणा की

मिनी माता सतनामी समाज के गुरु गद्दीनसीन अगमदास की पत्नी थीं. वह वर्ष 1952 में पहली बार सांसद चुनी गई थीं. मिनी माता ने राज्य में नारी शिक्षा के लिए उल्लेखनीय कार्य किया. अधिकारियों ने बताया कि मुख्यमंत्री ने इस दौरान नया रायपुर में गुरु घासीदास के नाम पर शोध पीठ और संग्रहालय स्थापित करने की भी घोषणा की. उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री ने पंथी नृत्य के महान कलाकार देवदास बंजारे की स्मृति में राज्य स्थापना दिवस समारोह में ‘पंथी नृत्य पुरस्कार’ आरंभ करने की भी घोषणा की है. साथ ही उन्होंने राजधानी में अनुसूचित जाति वर्ग के छात्र-छात्राओं को प्रतियोगी परीक्षा में सुविधा देने के लिए छात्रावास के निर्माण की घोषणा की है.





छत्तीसगढ़ बाबा गुरु घासीदास के दिखाए हुए मार्ग पर चल रहा है



मुख्यमंत्री बघेल ने इस अवसर पर कहा,‘‘गुरु घासीदास बाबा का महान संदेश ‘मनखे मनखे एक समान’ समानता का सिद्धांत हमारे संविधान का भी अहम हिस्सा है. बाबा जी ने आज से ढाई सौ साल पहले अहिंसा और सत्य का संदेश दिया जो उद्देश्यपूर्ण जीवन का मूल स्रोत है. महात्मा गांधी ने अहिंसा और सत्य के सिद्धांतों पर चलकर देश को आजादी दिलाई.’’ मुख्यमंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ बाबा गुरु घासीदास के दिखाए हुए मार्ग पर चल रहा है.




अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज