Home /News /chhattisgarh /

इंटरनेट पर 'तबाही' मचा रहे बस्तर के यूट्यूबर, 1 Video पर ही 45 लाख व्यूज, जानें इनकम

इंटरनेट पर 'तबाही' मचा रहे बस्तर के यूट्यूबर, 1 Video पर ही 45 लाख व्यूज, जानें इनकम

बस्तर संभाग के सुकमा जिले के यूट्यूबर इंटरनेट पर धूम मचा रहे हैं.

बस्तर संभाग के सुकमा जिले के यूट्यूबर इंटरनेट पर धूम मचा रहे हैं.

छत्तीसगढ़ के बस्तर संभाग के सुकमा जिले की चर्चा आमतौर पर नक्सल हिंसा की घटनाओं की वजह से ही पूरे देश में की जाती है, लेकिन अब यहां के युवा अपनी और जिले की अलग पहचान बना रहे हैं. सुकमा जिले के 5 युवाओं का एक ग्रुप इंटरनेट पर इन दिनों धूम मचा रहा है. स्थानीय बोली में गीत गाकर उसका वीडियो यू ट्यूब पर अपलोड कर रहे इन युवाओं को लाखों व्यूज मिल रहे हैं. इस ग्रुप के एक वीडियो को तो 45 लाख से ज्यादा बार देखा गया है. ग्रुप के सदस्यों ने बताया कि पहले दोस्तों ने उनका मजाक बनाया था. उन्होंने कहा हल्बी में गाने नहीं चलेंगें, लेकिन एआर गु्रप के सदस्यों ने ना सिर्फ गाने बनाए बल्कि सोशल मिडिया पर धूम मचाया. समिति संसधानों व नक्सल प्रभावित जिला होने के बावजूद इन युवाओं की टीम ने खुद ही गाना लिखा, कम्पोज किया और म्यूजिक देने के साथ-साथ वीडियो शूट से लेकर एडिटिंग सारा कुछ खुद ही किया.

अधिक पढ़ें ...

रायपुर/ सुकमा. छत्तीसगढ़ के बस्तर संभाग के सुकमा में सिर्फ नक्सल घटना या फिर गोली-बम के धमाके ही सुनाई देते है. बल्कि जिले में अब सुरीले संगीत सुनाई दे रहे हैं. सुकमा के स्थानीय 5 युवाओं ने एक म्यूजिक ग्रुप बनाया है, जिसका नाम एआर म्यूजिक है. एआर म्यूजिक नाम से ही यू ट्यूब पर इनका चैनल है. बस्तर के ये यूट्यूबर युवा इंटरनेट की दुनिया के सोशल मीडिया पर एक तरह से तबाही मचा रहे हैं. सोशल मीडिया पर इनके वीडियो की धूम है.  यूबटयूब पर लाखों लोग इनके गानों को देख रहे हैं. इनके एक वीडियो पर तो 45 लाख से ज्यादा व्यूज मिले हैं.

एआर म्यूजिक ग्रुप में सुकमा के ही रहने वाले अनुराग कुमार, पिंटू सहू, जोनी फैेंटम, प्रेमकुमार मांझी, श्रवण मंडावी शामिल हैं. एआर म्यूजिक के प्रमुख अनुराग कुमार ने बताया कि अब तक 8 वीडियो बनाए हैं. हर वीडियो का व्यू एक लाख से ज्यादा है. लेकिन सबसे हिट वीडियो ‘नोनी रे’ है, जिसे 45 लाख बार देखा गया है. अनुराग के मुताबिक शुरुआती समय में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा था. क्योंकि पैसे नही थे और लोगों का कहना था कि हिंदी में गाने बनाऐं करो, लेकिन हम लोगो ने हल्बी को चुना. खास बात है कि इस ग्रुप के गाने से लेकर कम्पोज, म्यूजिक, वीडियो व डांस से लेकर लिरिक्स तक इनका ग्रुप ही तैयार करता है. इन वीडियो स से नेम-फेम के साथ अब यूबटूब से अच्छी खासी कमाई हो रही है.  हालांकि अभी तक खुद के खर्चे से ही विडियो बनाए हैं.

संसाधनों की भारी कमी के बीच महशूर हो रहा ग्रुप
बस्तर संभाग के सुकमा जिले की बात की जाए तो अधिकांश हिस्से में इंटरनेट तो दूर की बात नेटवर्क तक नहीं है. यहां की आधी आबादी बिना मोबाइल के जीवनयापन कर रही है. संगीत की पाठशाला तो दूर की बात यहां पर सही ढंग से आर्केस्ट्रा तक नहीं है. बात अगर संसाधनों की करे तो यहां पर ना तो कोई बड़ा स्टूडियो है या फिर ना ही कोई म्यूजिक से जुड़ी हुई सुविधा. बावजूद इसके एआर ग्रुप के सदस्यों ने आपसी तालमेल व सीमित संसाधनों के बीच बेहतर ढंग से विडियों व गाने बनाए. ये ग्रुप पूरे देश में मशहूर हो रहा है.

ये भी पढ़ें: लाल चींटी की चटनी बेच फेमस हुआ 23 साल का आदिवासी, कमाई का जरिया बना बस्तरिया फूड

दोस्तों व परिचिंतों ने बनाया था मजाक
एआर ग्रुप के सदस्यों ने बताया कि जब वीडियो बनाने के बारे में सोचा और शुरुआत की तो दोस्तों व पहचान वालों ने खूब मजाक बनाया. उन्होंने कहा कि अगर बनाना है तो हिंदी में बनाओं हल्बी गाना कोई नहीं सुनेगा, लेकिन हम लोग आपस में मिलकर एक गाने की शुरुआत की, जिसके बाद लगातार 9 गाने के वीडियो बनाए गए और आज वो सभी सोशल मिडिया पर हिट हा गए हैं. उसके बाद आज वही दोस्त सहयोग कर रहे हैं.

Tags: Sukma news, YouTubers

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर