Home /News /chhattisgarh /

CM भूपेश बघेल ने खोला सौगातों का पिटारा: सरपंचों का मानदेय दोगुना, पंचायत अध्यक्षों को नई गाड़ी

CM भूपेश बघेल ने खोला सौगातों का पिटारा: सरपंचों का मानदेय दोगुना, पंचायत अध्यक्षों को नई गाड़ी

Raipur Latest News: मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सरपंचों का मानदेय किया दोगुना.

Raipur Latest News: मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सरपंचों का मानदेय किया दोगुना.

Chhattisgarh News: मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (CM Bhupesh Baghel) ने पंचायती राज सम्मेलन के दौरान पंचायत प्रतिनिधियों को लेकर बड़ी घोषणा की. उन्होंने सरपंचों का मानदेय 2 हजार रुपए से बढ़ाकर 4 हजार रुपए करने का फैसला किया. साथ ही सीएम बघेल ने कहा कि सरपंचों को अब 50 लाख रुपए की लागत तक के कार्य कराने का अधिकार होगा. नया संशोधित एसओआर जल्द लागू होगा.

अधिक पढ़ें ...

    रायपुर. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (CM Bhupesh Baghel) ने पंचायत प्रतिनिधियों को कई सौगातें दी है. पंचायती राज सम्मलेन में सीएम बघेल ने सरपंचों का मानदेय 2 हजार रुपए से बढ़ाकर 4 हजार रुपए करना का ऐलान किया. इसके साथ ही विकास निधि का भी ऐलान मुख्यमंत्री ने किया है. इसके साथ ही जिला पंचायत के अध्यक्ष और उपाध्यक्ष को नई गाड़ी के लिए राशि भी स्वीकृति कर दी गई है. जिला पंचायत अध्यक्ष-उपाध्यक्ष और सदस्य तथा सरपंच के मानदेय में इजाफा किया गया है. जिला पंचायत अध्यक्ष का मानदेय अब 25 हजार रूपए, उपाध्यक्ष का 15 हजार रूपए और सदस्य का मानेदय 10 हजार रूपए होगा.

    मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने शुक्रवार को राजधानी रायपुर के इंडोर स्टेडियम में आयोजित छत्तीसगढ़ प्रदेश स्तरीय पंचायती राज सम्मेलन को संबोधित करते हुए पंचायती राज संस्थाओं के पदाधिकारियों के अधिकारों के संबंध में अनेक महत्वपूर्ण घोषणाएं की. मुख्यमंत्री ने घोषणा करते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ शासन पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग द्वारा संचालित राज्य बजट की योजनाओं के क्रियान्वयन में नोटशीट जिला पंचायत के मामले में जिला पंचायत अध्यक्ष तथा जनपद पंचायत से संबंधित मामलों में जनपद पंचायतों के अध्यक्षों के समक्ष अनुमोदन के लिए प्रस्तुत की जाएंगी. केन्द्र सरकार की योजनाओं के लिए यह प्रावधान लागू नहीं होगा.

     विकास निधि का ऐलान

    जिला पंचायत अध्यक्ष एवं जनपद पंचायत अध्यक्ष के वित्तीय अधिकार के संबंध में सीएम बघेल ने कहा कि पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग द्वारा संचालित राज्य बजट की योजनाओं की राशि का भुगतान पूर्व संबंधित अध्यक्ष द्वारा नस्ती पर अनुमोदन के बाद मुख्य कार्यपालन अधिकारी, जिला पंचायत एवं वरिष्ठ लेखाधिकारी अथवा सहायक लेखाधिकारी के संयुक्त हस्ताक्षर से तथा जनपद के मामले मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत एवं सहायक लेखाधिकारी उसकी अनुपस्थिति में कलेक्टर द्वारा प्राधिकृत किसी अधिकारी के संयुक्त हस्ताक्षर से भुगतान किया जाएगा.

    ये भी पढ़ें: शादीशुदा प्रेमिका को लेकर भागा प्रेमी, लड़की के भाई ने युवक के माता-पिता को पुलिस के सामने पीटा

    सीएम बघेल ने जिला तथा जनपद पंचायत पदाधिकारियों को निधि प्रदान करने के संबंध में घोषणा करते हुए कहा कि जिला पंचायत अध्यक्ष के लिए प्रतिवर्ष 15 लाख रुपए, जिला पंचायत उपाध्यक्ष के लिए 10 लाख रुपए तथा जिला पंचायत सदस्य के लिए 4 लाख रुपए, जनपद पंचायत अध्यक्ष के लिए 5 लाख रुपए, जनपद पंचायत उपाध्यक्ष के लिये 3 लाख रुपए तथा जनपद पंचायत सदस्य के लिए 2 लाख रुपए निधि प्रदाय की जाएगी. इस प्रकार कुल 45 करोड़ रुपए के बजट प्रावधान को पुनर्विनियोजन के माध्यम किया जाएगा.  जिला जनपद पंचायत अध्यक्ष और उपाध्यक्ष को वाहन उपलब्ध कराने के संबंध में उन्होंने कहा कि जिला पंचायत अध्यक्ष को वाहन उपलब्ध कराने के लिए 2 करोड़ रुपए प्रतिवर्ष व्यय की सहमति दी गई है. जनपद पंचायत अध्यक्ष को वाहन उपलब्ध कराने के लिए 6.13 करोड़ रुपए की अतिरिक्त व्यय की स्वीकृति दी जाएगी.

    मानदेय बढ़ाने की घोषणा

    मुख्यमंत्री ने सरपंचों के मानदेय को 2 हजार रुपए से बढ़ाकर 4 हजार रुपए करने, जिला पंचायत अध्यक्षों का मानदेय 15 हजार रुपए से बढ़ाकर 25 हजार रुपए करने, जिला पंचायत उपाध्यक्ष का मानदेय 10 हजार रुपए से बढ़ाकर 15 हजार रुपए और जिला पंचायत सदस्य का मानदेय 6 हजार रुपए से बढ़ाकर 10 हजार रुपए करने की घोषणा की. मुख्यमंत्री ने सम्मेलन में कहा कि सरपंचों को अब 50 लाख रुपए की लागत तक के कार्य कराने का अधिकार होगा. नया संशोधित एसओआर जल्द लागू होगा.

    Tags: Bhupesh Baghel, Chhattisgarh news, Raipur news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर