MLA को बर्थडे गिफ्ट में समर्थकों ने दी 500 किताबें, 10 हजार कॉपियां, संशय- इसका करें क्या?
Durg News in Hindi

MLA को बर्थडे गिफ्ट में समर्थकों ने दी 500 किताबें, 10 हजार कॉपियां, संशय- इसका करें क्या?
एमएलए देवेन्द्र यादव ने अपने समर्थकों से अपील की थी कि उनके जन्मदिन पर समर्थक यदि उन्हें कोई उपहार देना चाहते हैं तो पुरानी किताबें या पौधा दें.

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के भिलाई नगर निगम के मेयर और भिलाई नगर से विधयक देवेन्द्र यादव (MLA Devendra Yadav) के लिए उनके जन्मदिन पर मिले उपहार उनके लिए संशय का कारण बन गया है.

  • Share this:
भिलाई. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के भिलाई नगर निगम के मेयर और भिलाई नगर से विधायक देवेन्द्र यादव (MLA Devendra Yadav) के लिए उनके जन्मदिन पर मिले उपहार उनके लिए संशय का कारण बन गया है. मेयर व एमएएलए देवेन्द्र को उनके समर्थकों ने जन्मदिन पर बुधवार को 500 से अधिक किताबें, 10 हजार से अधिक कॉपियां और पौधे उपहार के रूप में दिए. हालांकि ये उपहार उनकी अपील पर ही उनके समर्थकों ने दिए, लेकिन अब संशय ये है कि इतनी बड़ी संख्या में मिलीं किताब और कॉपियों का उपयोग क्या करें. हालांकि इसको लेकर अलग अलग योजनाएं बनाई जा रही हैं.

कांग्रेस (Congress) की टिकट पर एमएलए बने देवेन्द्र यादव ने अपने समर्थकों से अपील की थी कि उनके जन्मदिन पर समर्थक यदि उन्हें कोई उपहार देना चाहते हैं तो पुरानी किताबें या पौधा दें. इसका उपयोग आगे क्या करना है, इसे बाद में तय किया जाएगा. नेताजी के समर्थकों को ये बात भा गई और जन्मदिन पर एक ऑटो भरकर कॉपी और किताबें लेकर पहुंच गए.

Chhattisgarh
देवेन्द्र यादव के समर्थकों ने किताबें उपहार में दीं.




2 हजार से अधिक पेन और पेंसिल



विधायक के समर्थकों में शामिल आदित्य सिंह व शरद मिश्रा ने बताया कि उनकी अपील के बाद पुरानी किताबें व कॉपियां जुटानी शुरू की गई. इसके लिए अलग अलग लोगों से संपर्क कर उनके लिए अनउपयोगी हो चुकी किताब और कॉपियों को इकट्ठा किया गया. इसमें स्कूल से कॉलेज के अलग अलग कक्षाओं की 500 से अधिक किताबें, 10 हजार से अधिक कॉपियां, 2 हजार से अ​धिक पेन व पेंसिल व 1 हजार से अधिक पौधे उपहार में दिए गए हैं.

Chhattisgarh News
देवेन्द्र यादव के साथ उनके समर्थक.


तय कर रहे क्या करेंगे
विधायक देवेन्द्र यादव ने न्यूज 18 से बताया कि समर्थकों से ढेर सारी किताब व कॉपियां मिली हैं. तय किया जा रहा है कि इसका क्या क्या उपयोग करें. योजना है कि इसे जरूरतमंद बच्चों को स्कूल व कॉलेजों में बांटा जाए. बची किताबों को नगर निगम के लाइब्रेरी में रखा जाए. समर्थकों से चर्चा कर इसपर अंतिम निर्णय लिया जाएगा.

ये भी पढ़ें:
धान पर घमासान: पुलिस ने लाठीचार्ज कर किसानों को दिया 'जख्म', गृह मंत्री ताम्रध्वज ने छिड़का 'नमक' 

इस सरकारी स्कूल में KBC की तर्ज पर रोज क्विज कांटेस्ट, ताकि विषय याद हो और Exam का स्ट्रेस भी न लें बच्चे 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading