अंतागढ़ टेपकांड: फिरोज सिद्दीकी के खिलाफ FIR, ब्लैकमेलिंग और वसूली का आरोप

पुलिस ने सिद्दीकी के खिलाफ ब्लैक मेलिंग और वसूली का आरोप लगा है. बताया जा रहा है कि फिलहाल फिरोज सिद्दीकी सिविल लाइन पुलिस की हिरासत में है.

Mamta Lanjewar | News18 Chhattisgarh
Updated: July 30, 2019, 1:42 PM IST
अंतागढ़ टेपकांड: फिरोज सिद्दीकी के खिलाफ FIR, ब्लैकमेलिंग और वसूली का आरोप
अंतागढ़ टेपकांड के प्रमुख गवाह फिरोज सिद्दीकी पर FIR दर्ज किया गया है
Mamta Lanjewar | News18 Chhattisgarh
Updated: July 30, 2019, 1:42 PM IST
छत्तीसगढ़ के हाईप्रोफाइल अंतागढ़ टेप के प्रमुख गवाह फिरोज सिद्दीकी पर FIR दर्ज किया गया है. जानकारी के मुताबिक पुलिस ने सिद्दीकी के खिलाफ ब्लैक मेलिंग और वसूली का आरोप लगा है. बताया जा रहा है कि फिलहाल फिरोज सिद्दीकी सिविल लाइन पुलिस की हिरासत में है. मिली जानकारी के मुताबिक पुलिस ने वकील की मौजूदगी में फिरोज के घर की तलाशी भी ली है. साथ ही कुछ सामान भी जब्त किया है.

वीडियो जारी कर कही थी ये बात: 

बता दें कि सोमवार को सिद्दीकी ने एक वीडियो जारी कर कहा था कि रात 1 बजे पुलिस ने घर में दबिश दी है और नजरबंद कर लिया है.  वीडियो में सिद्दीकी ने दाव किया कि अंतागढ़ मामले की अगर सही जांच की जाए तो वो चेहरे भी बेनकाब होंगे जो आज तक पर्दे के पीछे है. मालूम हो कि इससे पहले भी फिरोज सिद्दीकी ने एक वीडियो जारी किया था और सुरक्षा की मांग की थी.

Antagadh Tape case, Antagadh Tape case of chhattisgarh, Feroze Siddiqui, Feroze Siddiqui in antagarh tape case,  Feroze Siddiqui feared of getting murdered, अंतागढ़ टेपके. अंतागढ़ टेपकांड, छत्तीसगढ़ का अंतागढ़ टेपकांड, फिरोज सिद्दिकी, अंतागढ़ टेप कांड का गवाह. फिरोज सिद्दिकी अंतागढ़ टेप कांड का गवाह, अंतागढ़ टेपकांड के गवाह की हत्या
इससे पहले भी फिरोज सिद्दीकी ने एक वीडियो जारी किया था और सुरक्षा की मांग की थी.


क्या था अंतागढ़ टेपकांड मामला:

साल 2014 में अंतागढ़ के तत्कालीन विधायक विक्रम उसेंडी ने लोकसभा का चुनाव जीतने के बाद इस्तीफा दिया था. वहां हुए उपचुनाव में कांग्रेस ने पूर्व विधायक मंतू राम पवार को प्रत्याशी बनाया था. भाजपा से भोजराम नाग खड़े हुए थे. नाम वापसी के अंतिम वक्त पर मंतूराम ने अपना नामांकन वापस ले लिया था. इससे भाजपा को एक तरह का वाकओवर मिल गया था. बाद में फिरोज सिद्दीकी नाम से एक व्यक्ति का फोन कॉल वायरल हुआ था. आरोप लगे थे कि तब कांग्रेस में रहे पूर्व सीएम अजीत जोगी के पुत्र अमित जोगी ने मंतू की नाम वापसी कराई. टेपकांड में कथित रूप से अमित जोगी और तत्कालीन मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के दामाद पुनीत गुप्ता के बीच हुई बातचीत बताई गई थी.

ये भी पढ़ें: 
Loading...

बारिश में छत्तीसगढ़ का चित्रकोट बन गया ''नियाग्रा'', सालों बाद दिखता है ऐसा खूबसूरत नजारा 

अंतागढ़ टेपकांड: फिरोज सिद्दीकी ने जारी किया नया वीडियो, कहा- जल्द बेनकाब होंगे कई बड़े चेहरे 
First published: July 30, 2019, 1:37 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...