Home /News /chhattisgarh /

कालीचरण महाराज को नहीं मिली बेल, कोर्ट ने 13 जनवरी तक न्यायिक हिरासत में भेजा

कालीचरण महाराज को नहीं मिली बेल, कोर्ट ने 13 जनवरी तक न्यायिक हिरासत में भेजा

Kalicharan Maharaj News: कालीचरण महाराज को रायपुर कोर्ट से नहीं मिली जमानत. 13 जनवरी तक न्यायिक हिरासत में भेजा गया.....

Kalicharan Maharaj News: कालीचरण महाराज को रायपुर कोर्ट से नहीं मिली जमानत. 13 जनवरी तक न्यायिक हिरासत में भेजा गया.....

Kalicharan Maharaj Latest News: राष्ट्रपिता महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) पर अभद्र टिप्पणी करने वाले कालीचरण महाराज (Kalicharan Maharaj Arrest) को जमानत नहीं मिली. रायपुर की जेएमएफसी कोर्ट ने उन्हें 13 जनवरी तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया है. कोर्ट से निकलते ही कालीचरण  (Kalicharan Maharaj Bail) ने कहा कि 3 जनवरी को सेशन कोर्ट रायपुर में 3 जनवरी को जमानत याचिका पर सुनवाई होगी.

अधिक पढ़ें ...

रायपुर. राष्ट्रपिता महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) पर अभद्र टिप्पणी करने वाले कालीचरण महाराज (Kalicharan Maharaj) को बेल नहीं मिली है. शुक्रवार को जेएमएफसी कोर्ट ने कालीचरण की जमानत याचिका को खारिज कर दिया है. कोर्ट ने कालीचरण महाराज को 13 जनवरी तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया है. शुक्रवार को कोर्ट में काचीचरण को पेश किया गया था. कोर्ट ने निकलते ही कालीचरण ने कहा कि सेशन कोर्ट रायपुर में 3 जनवरी को जमानत याचिका पर सुनवाई होगी.

कालीचरण महाराज (Kalicharan Maharaj) छत्तीसगढ़ पुलिस से बचने के लिए मध्य प्रदेश के खजुराहो में छिपे थे. रायपुर पुलिस ने उन्हें बागेश्वर धाम से गिरफ्तार किया था. बताया जाता है कि इस दौरान उनके साथ 6 साथी भी मौजूद थे. इनमें दो महिलाएं थीं.

रायपुर के धर्म संसद में दिया था विवादित बयान

कालीचरण महाराज ने हाल ही में रायपुर में आयोजित हुई एक धर्म संसद में महात्मा गांधी को लेकर बेहद आपत्तिजनक टिप्पणी की थी. उनके इस बयान के बाद बवाल मच गया था. हंगामा बढ़ने के बाद ही तय हो गया था कि कालीचरण महाराज की कभी भी गिरफ्तारी हो सकती है. सीएम भूपेश बघेल ने इस मामले में पूर्व में ही काफी सख्त रुख अपनाते हुए कह दिया था कि कालीचरण महाराज गिरफ्तारी होगी. उसके बाद सक्रिय हुई रायपुर पुलिस ने उनको मध्यप्रदेश के खुजराहो स्थित एक होटल से गिरफ्तार किया.

ये भी पढ़ें: Rajasthan: 5 महीने की मासूम के दिल में था छेद, एक ट्वीट ने बचाई जान, सानिया से बन गई सोनू

कालीचरण ने दी थी चुनौती
कालीचरण के बयान पर हुए विवाद के बाद धर्म संसद के आयोजन को लेकर भी सवाल खड़े हुए थे. मामला दर्ज होने के बाद कालीचरण ने वीडियो जारी कर चुनौती दी थी. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कालीचरण महाराज के बयान पर कड़ा एतराज जताते हुए कहा था कि छत्तीसगढ़ शांति का टापू है और इसमें इस तरह की बातों का कोई स्थान नहीं है.

Tags: Chhattisgarh news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर