बजट सत्र: इन मुद्दों पर विपक्ष से घिरी सरकार

छत्तीसगढ़ विधान सभा में बजट सत्र जारी है. गुरुवार को सामान्य चर्चा में नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव ने सरकार को घेरा.

ETV MP/Chhattisgarh
Updated: February 15, 2018, 5:16 PM IST
बजट सत्र: इन मुद्दों पर विपक्ष से घिरी सरकार
प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर.
ETV MP/Chhattisgarh
Updated: February 15, 2018, 5:16 PM IST
छत्तीसगढ़ विधान सभा में बजट सत्र जारी है. गुरुवार को पेश बजट पर जारी सामान्य चर्चा में अपनी बात रखते हुए नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव ने सरकार को घेरा. टीएस सिंहदेव ने कहा कि बजट में राशि खर्च का उल्लेख होता है. श्वेत पत्र जारी कर सरकार को बताना चाहिए कि कितनी राशि खर्च हुई और कितनी आमदनी हुई.

सीएजी 12 से 20 हजार करोड़ खर्च नहीं करने की बात कही जा रही है. टीएस सिंहदेव ने सरकार से पूछा कि आमदनी गड़बड़ा रही है क्या. शिक्षाकर्मियों को दिसम्बर से तनख्वाह नहीं मिली. सिंहदेव ने कहा कि बजट का घाटा बढ़ रहा है. 9997 करोड़ का घाटा बताया गया है बीते बजट की तुलना में. लोन का बोझ बढ़ता जा रहा है.

सिंहदेव ने कहा कि प्रदेश अपने संसाधनों का विकास नहीं कर पा रहा है.
कोयले की स्टाम्प ड्यूटी में सरकार छूट दे रही है. कोल नीलामी के बाद राज्य को क्या मिल रहा है. नेता प्रतिपक्ष ने कहा, ‘प्रदेश में दैनिक व्यवसाय के साथ साथ प्रदेश की आमदनी में भी GST का असर पड़ रहा है. 15 प्रतिशत से घटकर आमदनी 9 प्रतिशत का अनुमान है. अभी प्रदेश में एक व्यापारी ने इसकी वजह से आत्महत्या की है.

नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि सेनेटरी नेपकिन 3 से 10 लाख वाले गांव में ही क्यों, सभी गांव में इसकी व्यवस्था होनी थी. सारे स्कूलों में इसकी व्यवस्था होनी थी. इस दिशा में सरकार ध्यान दे प्रत्येक महिला बच्ची कवर हो, ऐसी व्यवस्था होनी चाहिए. स्कूलों में पढ़ाई तो दूर कम्प्यूटर नहीं है. 2008 से 13 के बीच कम्यूटर देने बात हुई थी, मगर स्कूलों में कम्प्यूटर नहीं है.

पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर