लाइव टीवी

रायपुर में हिस्ट्रीशीटर को कारोबारी ने मारी गोली, जुर्म कबूलने खुद पहुंचा थाने

Raghwendra Sahu | News18 Chhattisgarh
Updated: October 3, 2019, 12:11 PM IST
रायपुर में हिस्ट्रीशीटर को कारोबारी ने मारी गोली, जुर्म कबूलने खुद पहुंचा थाने
बेटे पर चाकू से हमला होता देखकर कारोबारी धर्मेंद्र ने अपनी लाइसेंसी पिस्टल से चार फायर किए. (प्रतीकात्‍मक फोटो)

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) की राजधानी रायपुर (Raipur) में एक कारोबारी ने हिस्ट्रीशीटर की गोली मारकर हत्या कर दी. इसके बाद खुद थाने जाकर सरेंडर भी कर दिया.

  • Share this:
रायपुर. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) की राजधानी रायपुर (Raipur) में एक कारोबारी ने हिस्ट्रीशीटर की गोली मारकर हत्या कर दी. इसके बाद थाने जाकर सरेंडर भी कर दिया. घटना बुधवार की देर रात करीब 12 बजे की बताई जा रही है. महादेवघाट स्थित प्रांजल पेट्रोल (Petrol) पंप के पास केबल कारोबारी ने हिस्ट्रीशीटर बुल्ठू पाठक की गोली मारकर हत्या कर दी. बुल्ठू पाठक द्वारा विवाद करने के बाद इस वारदात (Crime) को अंजाम दिया गया है. हत्या के बाद कारोबारी सरेंडर करने खुद ही पुलिस थाने पहुंच गया.

रायपुर पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक, केबल कारोबारी धर्मेंद्र ठाकुर अपने बेटे शिवेंद्र के साथ वैन से कहीं जा रहा था. रात करीब 12 बजे उसकी वैन की टक्कर बाइक सवार हिस्ट्रीशीटर बुल्ठू पाठक से हो गई. इसके बाद पाठक ने कारोबारी को गाली दी. आरोप है कि इसके बाद वे महादेवघाट स्थित पेट्रोल पंप के पास रुके तभी वहां बुल्ठू पहुंचा और धर्मेंद्र के बेटे पर चाकू से हमला कर दिया.

...तो धर्मेन्द्र ने चलाई गोली
बेटे पर चाकू से हमला होता देखकर धर्मेंद्र ने अपनी लाइसेंसी पिस्टल से चार फायर किए. इसमें से एक गोली पाठक के सीने में लगी. इस वारदात के बाद धर्मेन्द्र खुद ही डीडी नगर पुलिस थाने गया और सरेंडर कर दिया. इसके बाद घटनास्थल पर पुलिस पहुंची तो देखा कि बुल्ठू पाठक जमीन पर पड़ा है. उसकी मौत हो चुकी थी. पुलिस की मदद से धर्मेंद्र के बेटे को एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है. गौरतलब है कि पाठक के खिलाफ पूर्व में हत्या समेत कई अपराध अलग-अलग पुलिस थानों में दर्ज हैं. हत्या की खबर मिलने के बाद पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया. एडिशनल एसपी सिटी प्रफुल्ल ठाकुर के साथ आधा दर्जन अफसर और थानेदार मौके पर पहुंच गए. पुलिस को पहले केबल कारोबार में रंजिश का शक था, लेकिन पूछताछ में घटना की असली वजह के बारे में जानकारी मिली.



ये भी पढ़ें: गांधी@150: BJP नेता धरमलाल कौशिक बोले- नाथूराम गोडसे को मुर्दाबाद कहना गाली देने के बराबर 

महात्मा गांधी ने छत्तीसगढ़ में यहां शुरू की थी छुआछूत के खिलाफ जंग!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रायपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 3, 2019, 9:23 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर