छत्तीसगढ़ में CM की दौड़ में आगे हैं विधानसभा के सबसे अमीर 'बाबा', जानिए- इनसे जुड़ी खास बातें
Raipur News in Hindi

छत्तीसगढ़ में CM की दौड़ में आगे हैं विधानसभा के सबसे अमीर 'बाबा', जानिए- इनसे जुड़ी खास बातें
News18 Creatives.

Facts About: टीएस सिंहदेव छत्तीसगढ़ विधानसभा के सबसे अमीर सदस्य हैं.यहां पढ़ें, टीएस सिंहदेव के बारे वो सबकुछ जो आप जानना चाहते हैं...

  • Share this:
छत्तीसगढ़ की सियासत में शाही रुतबा रखने वालों सबसे बड़ा नाम है त्रिभुवनेश्वर शरण (टीएस) सिंहदेव. वे सरगुजा रियासत के राजा हैं, लोकप्रियता इतनी की सूबे के लोग उन्हें राजा साहब या हुकुम की बजाए प्यार से टीएस बाबा बुलाते हैं. छत्तीसगढ़ विधानसभा में सबसे अमीर सदस्यों में इनका नाम सबसे ऊपर है. 2018 के चुनाव में कांग्रेस को एकतरफा जीत मिलने के बाद मुख्यमंत्री की दौड़ में हैं. आइए एक नजर डालते हैं बघेल के अब तक के सामाजिक और राजनीतिक सफर पर.

टीएस सिंहदेव राज्य के सबसे अमीर विधायक हैं. अगर कुछ अन्य राज्यों के विधायकों से उनकी तुलना करें तो 2013 के आंकड़े बताते हैं कि मध्यप्रदेश, राजस्थान, दिल्ली और मिजोरम के सभी विधायकों की संपत्ति को मिला दिया जाए तो उनकी कुल संपत्ति होती है.

ये भी पढ़ें: छत्तीसगढ़ में हार के बाद रमन सिंह का ट्वीट- नर हो, न निराश करो मन को, कुछ काम करो..



टीएस सिंह राज्य की अंबिकापुर विधानसभा सीट से विधायक हैं, शपथ पत्र में उनकी कुल संपत्ति 500 करोड़ से अधिक है. 2013 में उनकी कुल संपत्ति 561 करोड़ 50 लाख 50 हजार 146 रुपये थी, तो वहीं इस बार उनकी संपत्ति 500 करोड़ 1 लाख 27 हजार 613 रुपये है. राज्य में महेंद्र कर्मा, विद्याचरण शुक्ल, नंद कुमार पटेल जैसे बड़े नेताओं के नक्सली हमले में निधन के बाद सिंहदेव राज्य कांग्रेस में बड़े नेता के तौर पर उभरे.



राजनीतिक करियर
सरगुजा राजपरिवार के वारिस 66 वर्षीय सिंहदेव टीएस सिंहदेव भाजपा के अनुराग सिंहदेव को इस चुनाव में तीसरी बार मात दी. साल 2008 में जब अंबिकापुर सीट सामान्य श्रेणी की हुई तब टीएस सिंहदेव ने करीबी मुकाबले में अनुराग सिंहदेव को मात्र 900 वोटों से हराया था. पिछले विधानसभा चुनाव में टीएस सिंहदेव ने भाजपा प्रत्याशी अनुराग सिंहदेव को 19 हजार से ज्यादा वोटों से हराया. इस चुनाव में टीएस सिंहदेव को करीब 39 हजार वोटों से जीत मिली. टीएस सिंहदेव का रुतबा पूरे छत्तीसगढ़ में है. टीएस सिंहदेव को राजनीति विरासत में मिली. इनकी माता देवेन्द्र कुमारी सिंहदेव अर्जुन सिंह की सरकार में कैबिनेट मंत्री भी रहीं.

इसलिए दावेदारी मजबूत
छत्तीसगढ़ कांग्रेस में यदि राष्ट्रीय छवि वाले सौम्य चेहरे की बात की जाए तो अंबिकापुर से विधायक व सरगुजा महाराज टीएस सिंहदेव का नाम सबसे आगे आता है. सरल स्वभाव वाले टीएस सिंहदेव सोनिया और राहुल गांधी के करीबी भी माने जाते हैं. इस चुनाव में कांग्रेस का मजबूत पक्ष घोषणा पत्र तैयार करने में इनकी भूमिका सबसे अहम थी. घोषणा पत्र समिति के ये अध्यक्ष भी थे. ऐसे में मुख्यमंत्री के लिए इनकी दावेदारी काफी मजबूत मानी जा रही है.

ये भी पढ़ें: Chhattisgarh Result 2018: 90 सीटों का हाल, जानिए किसी सीट से किसको मिली जीत

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading