CG Assembly Session: कोरोना टेस्ट नहीं कराना चाहते MLAs, अब सदन में प्रवेश से पहले पिलाया जाएगा काढ़ा
Raipur News in Hindi

CG Assembly Session: कोरोना टेस्ट नहीं कराना चाहते MLAs, अब सदन में प्रवेश से पहले पिलाया जाएगा काढ़ा
छत्तीसगढ़ विधानसभा के सदन में कोरोना से बचने खास तैयारियां की गई हैं.

छत्तीसगढ़ विधानसभा (Chhattisgarh Assembly) के मानसून सत्र से पहले कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण से बचने के सारे उपाय करने के दावे किए जा रहे हैं.

  • Share this:
रायपुर. छत्तीसगढ़ विधानसभा (Chhattisgarh Assembly) का मानसून सत्र 25 अगस्त से शुरू हो रहा है. कोरोना संकट के बीच हो रहे इस सत्र की शुरुआत से पहले ही सियासत शुरू हो गई है. इस बार सियासत विधायकों के कोरोना वायरस टेस्ट को लेकर है. विधानसभा सत्र से पहले कई विधायकों ने अपना कोविड-19 (Covid-19) कराने से इनकार कर दिया है, जबकि सत्र की घोषणा के दौरान विधानसभा प्रशासन ने सभी विधायकों के कोरोना टेस्ट (Corona Test) कराने की बात कही थी. विधायकों के इनकार के बाद अब सत्र में वायरस के संक्रमण से बचने अब दूसरे उपाय किए जा रहे हैं.

छत्तीसगढ़ विधानसभा के प्रधान सचिव चन्द्रशेखर गैंगरडे ने बताया कि सदन में प्रवेश करते ही विधायकों के टेम्‍प्रेचर और ऑक्सीजन के स्तर की जांच की जाएगी. सभी दिशा-निर्देशों का पालन किया जाएगा. आयुष मंत्रालय द्वारा एक काढ़ा विधायकों के लिए रखा गया. उन्हें काढ़ा पिलाया जाएगा. बता दें कि सत्र शुरू होने से पहले विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत ने सदन में तैयारियों का जायजा लिया.

पूर्व सीएम ने कही ये बात
छत्तीसगढ़ विधानसभा में विधायकों के कोरोना टेस्ट का मामला सियासी रंग ले चुका है. पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा कि सभी विधायकों का कोरोना टेस्ट होना चाहिए था. डॉ. रमन ने क​हा कि उन्होंने अपना टेस्ट करा लिया है. इस बयान पर कांग्रेस विधायक विकास उपाध्याय ने पलटवार किया है. विधायक उपाध्याय ने कहा कि विधानसभा में सभी एतिहातन कोरोना संक्रमण को रोकने के उठाए गये हैं. कोरोना से बचने जारी सभी नियमों का सदन में पालन किया जायेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज