Chhattisgarh : मरवाही उपचुनाव के पहले बघेल सरकार ने 11 IAS अफसरों को किया इधर से उधर

भूपेश बघेल ने 11 आईएएस अफसरों का किया तबादला. (फाइल फोटो)
भूपेश बघेल ने 11 आईएएस अफसरों का किया तबादला. (फाइल फोटो)

सचिव उमेश कुमार अग्रवाल को ऊर्जा विभाग का अतिरिक्त प्रभार संभालना होगा. एससी-एसटी, पिछड़ा वर्ग और अल्पसंख्यक विकास विभाग की विशेष सचिव नीलम नामदेव एक्का को संचालक विमानन का अतिरिक्त प्रभार मिला है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 25, 2020, 9:50 PM IST
  • Share this:
रायपुर. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में मरवाही विधानसभा सीट के लिए होने वाले उपचुनाव (Marwahi Bypolls) से पहले बड़ी प्रशासनिक सर्जरी की गई है. 11 वरिष्ठ आईएएस (IAS) अफसरों के पद में बदलाव की सूचना आई है. आईएएस ए. कुलभूषण टोप्पो को छत्तीसगढ़ प्रशासन अकादमी के संचालक की जिम्मेवारी सौंपी गई है. सचिव धनंजय देवांगन को तकनीकी शिक्षा एवं रोजगार विभाग का अतिरिक्त प्रभार दिया गया है. इसी तरह सचिव उमेश कुमार अग्रवाल को ऊर्जा विभाग का अतिरिक्त प्रभार संभालना होगा. एससी-एसटी, पिछड़ा वर्ग और अल्पसंख्यक विकास विभाग की विशेष सचिव नीलम नामदेव एक्का को संचालक विमानन का अतिरिक्त प्रभार मिला है. अलरमेलमंगई डी वित्त विभाग के सचिव बनाए गए हैं जबकि हिमशिखर गुप्ता बतौर प्रबंध संचालक मंडी बोर्ड का काम देखेंगे.

रायपुर जिला कंटेनमेंट जोन घोषित, लॉकडाउन शुरू

इसके अतिरिक्त छत्तीसगढ़ शासन के मुख्य सचिव डीडी सिंह की ओर से जारी एक अन्य निर्देश के मुताबिक, कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण को रोकने के लिए मंत्रालय और विभागाध्यक्ष कार्यालयों में साप्ताहिक रोस्टर के हिसाब से एक तिहाई कर्मचारियों से काम करने को कहा गया है. इसके अलावा रायपुर जिला को कंटेनमेंट जोन (Containment Zone) घोषित करते हुए 21 सितंबर की रात 9 बजे से 28 सितंबर की रात 12 बजे तक के लिए लॉकडाउन (Lockdown) तय किया गया है. इस फैसले के मद्देनजर मंत्रालय और विभागाध्यक्ष कार्यालयों में इस अवधि में काम नहीं किया जाएगा.




आपको बता दें कि छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री और जनता कांग्रेस के प्रमुख अजीत जोगी के निधन के बाद उनकी विधानसभा मरवाही में उपचुनाव होना है. छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा आज वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारियों के तबादले को इसी उपचुनाव से जोड़कर देखा जा रहा है. पूर्व सीएम अजीत जोगी की मई के अंतिम सप्ताह में दिल का दौरा पड़ने से मृत्यु हो गई थी. यह गौरतलब है कि पिछले दो दशक से ज्यादा समय से मरवाही विधानसभा में जोगी परिवार का वर्चस्व रहा है. अजीत जोगी के निधन के बाद यहां उपचुनाव होने हैं. ऐसे में प्रदेश की सत्ताधारी कांग्रेस पार्टी का पूरा जोर इस बात पर है कि जोगी परिवार की पारंपरिक सीट पर किसी तरह वर्चस्व बनाया जाए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज