Home /News /chhattisgarh /

छत्तीसगढ़ सरकार ने किया ईओडब्ल्यू, एसीबी आईजी एसआरपी कल्लूरी का तबादला

छत्तीसगढ़ सरकार ने किया ईओडब्ल्यू, एसीबी आईजी एसआरपी कल्लूरी का तबादला

एसआरपी कल्लूरी (फाइल फोटो)

एसआरपी कल्लूरी (फाइल फोटो)

छत्तीसगढ़ सरकार ने बुधवार को देर शाम एक चौंकाने वाला आर्डर निकालते हुए ईओडब्ल्यू, एसीबी आईजी एसआरपी कल्लूरी का तबादला कर दिया है. उन्हें अपर परिवहन आयुक्त बनाया गया है.

    छत्तीसगढ़ सरकार ने बुधवार को देर शाम एक चौंकाने वाला आर्डर निकालते हुए ईओडब्ल्यू, एसीबी आईजी एसआरपी कल्लूरी का तबादला कर दिया है. उन्हें अपर परिवहन आयुक्त बनाया गया है. आईजी जीपी सिंह को ईओडब्ल्यू, एसीबी का नया आईजी अपाइंट किया गया है. इसके अलावा आदेश में पांच और आईपीएस के तबादले किए गए हैं. इनमें सुजीत कुमार को कोंडागांव का एसपी नियुक्त किया गया है. वहां के एसपी अरबिंद कुजूर अब एआईजी पुलिस मुख्यालय होंगे. बता दें कि विवादित अफसर कल्लूरी को महत्वपूर्ण जिम्मेदारी दिए जाने के बाद भूपेश सरकार की लगातार आलोचना हो रही थी.

    भारतीय पुलिस सेवा के 1994 बैच के अफसर शिवराम प्रसाद कल्लूरी को साल 2006 में भारत सरकार द्वारा वीरता के लिए पुलिस मेडल से नवाजे गया. छत्तीसगढ़ के इस अफसर को 'सरकार का चहेता' कहा जाता है. छत्तीसगढ़ में 15 साल बाद सत्ता में आई कांग्रेस की भूपेश सरकार ने बहुचर्चित कथित 36 हजार करोड़ रुपए के नागरिक आपूर्ति निगम घोटाला मामले की नए सिरे से जांच के लिए कमेटी बनाई है. एसआईटी का प्रभार शिवराम प्रसाद कल्लूरी को दिया गया है. विवादित अफसर कल्लूरी को इतनी महत्वपूर्ण जिम्मेवारी देने का हर वर्ग विरोध कर रहा है.

    विपक्ष में रहते हुए बस्तर में कल्लूरी की नियुक्ति का खुलकर विरोध करने वाले प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष भूपेश बघेल मुख्यमंत्री बनने के बाद उसी अफसर को महत्वपूर्ण जिम्मेवारी क्यों दे देते हैं, इसके पीछे उनके अपने तर्क हैं. इसके बारे में आगे जानेंगे, लेकिन उससे पहले जानते हैं कि शिवराम प्रसाद कल्लूरी कैसे और किन वजहों से हर सरकार के चहेते बन जाते हैं.

    तब अजीत जोगी 'डैडी' थे
    मध्य प्रदेश से अलग होकर साल 2000 में छत्तीसगढ़ राज्य बना और अजीत जोगी ने मुख्यमंत्री की कमान संभाली. उस समय राज्य के कई अफ़सर व सामाजिक​ और राजनीतिक वर्ग में कल्लूरी को लेकर खूब चर्चा होती थी क्योंकि आईपीएस शिवराम प्रसाद कल्लूरी सार्वजनिक तौर पर अजीत जोगी को 'डैडी' कहकर बुलाते थे. दरअसल सार्वजनिक तौर पर शिवराम प्रसाद कल्लूरी उसी समय चर्चा में भी आए.

    कल्लूरी अजीत जोगी के सबसे खास और सरकार के करीबी अफसरों में मानें जानें लगे. बिलासपुर जिले में पुलिस अधीक्षक रहते हुए उन पर आरोप लगे कि वो मुख्यमंत्री अजीत जोगी की कांग्रेस पार्टी में शामिल होने के लिए भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं पर दबाव बना रहे हैं. चर्चा हुई कि इसके लिए बिलासपुर के होटलों में कमरा बुक कर भाजपा कार्यकर्ताओं को बुलाया जाता था और उन पर कांग्रेस में शामिल होने का दबाव बनाया जाता था.

    ये भी देखिएः

    Surgical Strike 2: 12 दिन बाद PM मोदी ने पूरी की वाराणसी के लोगों की सर्जिकल स्ट्राइक की मांग



    पुलवामा आतंकी हमला: 'PM मोदी, अब पाक के जबड़े से उसका कलेजा निकालना होगा', देखें तस्वीरें




    महिला अघोरी ने News18 हिंदी को दिए अपने Exclusive Interview के पहले भाग में क्या-क्या कहा



    महिला अघोरी ने Exclusive Interview के दूसरे भाग में अपने बारे में और अघोरियों के बारे में क्या-क्या बताया, जानने के लिए देखिए तस्वीरें 


    PHOTOS: कुंभ में महामंडलेश्वर बने 9 विदेशी संत, पूरी दुनिया में करेंगे हिंदू धर्म का प्रचार


    एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

    Tags: Ajit jogi, Bhupesh Baghel, Chhattisgarh news, IPS, Raman singh

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर