लाइव टीवी

नए साल का तोहफा: सात हजार शिक्षाकर्मियों को जल्द नियमित करेगी सरकार

निलेश त्रिपाठी | News18 Chhattisgarh
Updated: January 12, 2020, 12:22 PM IST
नए साल का तोहफा: सात हजार शिक्षाकर्मियों को जल्द नियमित करेगी सरकार
छत्‍तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल. (फाइल फोटो)

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के मुख्‍यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि सात हजार शि​क्षाकर्मियों के नियमितिकरण (Regularization) का आदेश जनवरी में जारी कर दिया जाएगा.

  • Share this:
रायपुर. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के सात हजार शि​क्षाकर्मियों के नियमितिकरण (Regularization) का आदेश जनवरी 2020 में ही जारी कर दिया जाएगा. प्रदेश के सीएम भूपेश बघेल (CM Bhupesh Baghel) ने खुद इसकी जानकारी दी है. प्रत्येक रविवार को प्रसारित होने वाले रेडियो कार्यक्रम लोकवाणी में सीएम भूपेश बघेल ने एक सवाल के जवाब में शिक्षाकर्मियों के नियमितिकरण के संबंध में जानकारी दी. सीएम बघेल ने कहा कि जिन शिक्षाकर्मियों का आठ वर्ष पूरा हो रहा है, उनका नियमितीकरण आदेश निकाला जा रहा है. ऐसे लगभग सात हजार शिक्षाकर्मियों के नियमितीकरण का आदेश इस महीने निकाल दिया जाएगा.

सीएम भूपेश बघेल ने कहा कि प्रदेश में शिक्षामितान या अतिथि शिक्षकों के 1885 पद स्वीकृत किए गए हैं. अतिथि शिक्षकों के रिक्त पदों पर भर्ती का अधिकार स्थानीय स्तर पर दिया गया है. लगभग 15 हजार व्याख्याताओं की भर्ती की प्रक्रिया पूर्णता की ओर है अभी सत्यापन का कार्य किया जा रहा है. उन्‍होंने बताया कि जब से हमारी सरकार बनी है, तब से लगातार चुनाव और आचार संहिता के कारण लंबी प्रक्रिया वाले काम को पूरा करने में दिक्कत हुई, लेकिन अब ऐसे सभी कार्यों में तेजी आएगी.

आदिवासी इलाकों के लिए भी नई व्‍यवस्‍था
सीएम भूपेश ने कहा कि आदिवासी अंचलों में कनिष्ठ चयन बोर्ड के गठन का निर्णय लिया गया है, ताकि इन अंचलों के युवाओं को स्थानीय स्तर पर शासकीय सेवा में लिया जा सके. विशेष पिछड़ी जनजाति क्षेत्रों में युवाओं को सीधी भर्ती का लाभ दिया जा रहा है. हम सिर्फ सरकारी कार्यालयों में ही नहीं, बल्कि नई उद्योग नीति के माध्यम से उद्योगों और आर्थिक राहतों के माध्यम से व्यापार में भी युवाओं को नए-नए अवसर दे रहे हैं.

खुलेंगे नए मॉडल कॉलेज
सीएम भूपेश बघेल ने कहा कि हमने प्रदेश में उच्च शिक्षा को रुचिकर और गुणवत्तापूर्ण बनाने के लिए कदम उठाए हैं. वर्षों से लंबित सहायक प्राध्यापकों की भर्ती शुरू की है, जिससे लगभग 1400 युवाओं को सम्मानजनक रोजगार मिलेगा. बालोद में कन्या महाविद्यालय, दंतेवाड़ा, कोंडगांव, बीजापुर, सुकमा, नारायणपुर, महासमुंद और कोरबा में माॅडल डिग्री काॅलेज, ग्राम मर्रा जिला दुर्ग और ग्राम साजा जिला बेमेतरा में कृषि महाविद्यालय खोले जा रहे हैं. 14 नए फाॅर्मेसी काॅलेज खोले गए हैं. ट्रिपल आईटी नवा रायपुर में देश का पहला ‘डाटा साइंस तथा आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस पाठ्क्रम’ शुरू किया गया है. उच्चस्तरीय खेल प्रशिक्षण के लिए छत्तीसगढ़ खेल प्राधिकरण का गठन किया जा रहा है.
ये भी पढ़ें:
मंत्रियों के साथ CM भूपेश बघेल ने देखी फिल्म छपाक, BJP पर लगाए ये आरोप 

सुकमा में घोर नक्सल इलाके में तैनात पुलिस जवान ने खाया जहर, इलाज जारी 

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रायपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 12, 2020, 11:45 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर