अपना शहर चुनें

States

छत्तीसगढ़ के ग्राम पंचायतों को फिर से होगा परिसीमन, BJP ने लगाए ये आरोप

भाजपा और कांग्रेस दोनों ने परिसीमन के बहाने लाभ लेने का आरोप लगाया है.
भाजपा और कांग्रेस दोनों ने परिसीमन के बहाने लाभ लेने का आरोप लगाया है.

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) शासन पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के आदेश के बाद प्रदेश में परिसीमन को लेकर राजनीति शुरू हो गई है.

  • Share this:
रायपुर. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के ग्राम पंचायतों का एक बार फिर से परिसीमन होगा. छत्तीसगढ़ शासन पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के आदेश के बाद प्रदेश में परिसीमन को लेकर राजनीति शुरू हो गई है. भाजपा (BJP) और कांग्रेस (Congress) दोनों ने परिसीमन के बहाने लाभ लेने का आरोप लगाया है. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में 10 हजार 800 ग्राम पचंयात हैं. इन ग्राम पंचायतों का त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव से पहले एकबार फिर से परिसीमन होगा.

बता दें कि पंचायतों में परिसीमन की कार्रवाई लगभग पूरी कर ली गई थी, मगर पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के उप सचिव जितेन्द्र कुमार शुक्ला ने फिर से परिसीमन का आदेश प्रदेश के सभी कलेक्टरों को जारी किया है. कांग्रेस प्रवक्ता विकास तिवारी ने परिसीमन की पुन: आवश्यकता को लेकर बीजेपी पर निशाना साधा है. विकास ने कहा कि बीजेपी अपने फायदे के लिए परिसीमन कराया था, जिसकी लगातार शिकायतें मिल रही थी.

शक होना स्वभाविक
बीजेपी ने कांग्रेस पर आरोप लगाते हुए कहा है कि कांग्रेस सरकार काम नहीं कर रही है. बीजेपी प्रवक्ता संजय श्रीवास्तव का कहना है कि कांग्रेस सरकार अपने फायदे के लिए परिसीमन होने के बाद भी परिसीमन कर रही है, जिससे शक होना स्वभाविक है. बता दें कि इस वर्ष के अंत तक राज्य में पंचायत चुनाव संभावित है, जिसे लकेर 2019-20 के परिसीमन क्षेत्र के निर्धारण आरक्षण की कार्रवाई सुनिश्चत करनें राज्य सरकार ने पत्र जारी किया है.
ये भी पढ़ें: 'CM भूपेश बघेल को सपने में दिखाई देते हैं नाथूराम गोडसे' 



ये भी पढ़ें: 7 करोड़ रुपये में बनी 63 गड्ढों वाली सड़क, बड़े भ्रष्टाचार की आशंका 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज