लाइव टीवी

छत्तीसगढ़: वाट्सएप जासूसी मामले की होगी जांच, CM भूपेश बघेल के निर्देश पर कमेटी गठित

निलेश त्रिपाठी | News18 Chhattisgarh
Updated: November 11, 2019, 1:45 PM IST
छत्तीसगढ़: वाट्सएप जासूसी मामले की होगी जांच, CM भूपेश बघेल के निर्देश पर कमेटी गठित
वाट्सएप हैक कर जासूसी करने के मामले की जांच के लिए कमेटी गठित की गई है. (सांकेतिक फोटो)

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के सीएम भूपेश बघेल (CM Bhupesh Baghel) के निर्देश पर जांच के लिए तीन सदस्यीय कमेटी का गठन भी कर दिया गया है.

  • Share this:
रायपुर. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के मुख्‍यमंत्री भूपेश बघेल (CM Bhupesh Baghel) ने वाट्सएप जासूसी (WhatsApp Snooping) मामले की जांच के निर्देश दे दिए हैं. सीएम बघेल के निर्देश पर जांच के लिए तीन सदस्यीय कमेटी का गठन भी कर दिया गया है. कमेटी एक महीने में अपनी जांच रिपोर्ट सरकार को सौंपेगी. इसके बाद आगे की कार्रवाई तय की जाएगी. इजराइल की एक कंपनी पर वाट्सएप हैक कर छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) समेत देशभर के कई लोगों की जासूसी करने का आरोप लगा है.

सीएम भूपेश बघेल (CM Bhupesh Baghel) ने इसे देखते हुए छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के लोगों का वाट्सएप हैक (Whatsapp Hack) कर जासूसी करने के मामले की जांच कराने का फैसला लिया है. सीएम भूपेश बघेल ने इसको लेकर एक ट्वीट भी किया है. ​इसमें सीएम ने लिखा, 'जासूसी करना जासूसों का काम है, वो इसे करते रहेंगे. नागरिकों की निजता को सुरक्षित रखना मेरी जिम्मेदारी है. मैं भी इसे करता ही रहूंगा.'

Chhattisgarh, Bhupesh Baghel
सीएम भूपेश बघेल. फाइल फोटो.


प्रदेश में इनकी हुई थी जासूसी

मिली जानकारी के मुताबिक, छत्तीसगढ़ में पांच लोगों का वाट्सएप हैक कर उनकी जासूसी करने की शिकायत सामने आई है. इनमें सामाजिक कार्यकर्ता बेला भाटिया, आलोक शुक्ला, शालिनि गेरा, अधिवक्ता डिग्री चौहान और पत्रकार शुभ्रांशु चौधरी के नाम सामने आए हैं. बताया जा रहा है कि मई और जून 2019 में इनके फोन की जासूसी किए जाने की जानकारी वाट्सएप के ​जरिए ही इन्हें मिली. इसी मामले में अब जांच के निर्देश दिए गए हैं.

इजरायली कंपनी ने दिया था प्रजेंटेशन
सूत्रों के मुताबिक, सीएम भूपेश बघेल को शिकायत मिली है कि वाट्सएप हैक करने का आरोप इजराइल की जिस एनएसओ सॉफ्टवेयर कंपनी पर लगा है, उसने पूर्व की सरकार में करीब तीन साल पहले यहां प्रेजेंटेशन दिया था. इस दौरान प्रदेश के वरिष्ठ अधिकारी भी शामिल थे. इस मामले की जांच के लिए राज्य के प्रमुख गृह सचिव सुब्रत साहू के नेतृत्व में टीम बनाई गई है. इसमें रायपुर पुलिस के आईजी आनंद छाबड़ा और जनसंपर्क विभाग के अफसर तारन प्रकाश सिन्हा भी शामिल हैं. पुलिस महानिदेशक समिति को जांच के लिए सभी आवश्यक सहयोग देंगे.
Loading...

ये भी पढ़ें: जंगल में प्यार के निजी पल गुजार रहे थे कपल, लफंगों ने वीडियो बनाकर किया वायरल 

रायपुर से गुजरने वाली 12 लोकल ट्रेनें 17 नवंबर तक रहेंगी रद्द, रेलवे ने बताई ये वजह 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रायपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 11, 2019, 12:41 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...