छत्‍तीसगढ़ जनता कांग्रेस (जे) ने घेरा सीएम हाउस, पुलिस से हुई झड़प

Devwrat Bhagat | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: August 13, 2017, 4:34 PM IST
छत्‍तीसगढ़ जनता कांग्रेस (जे) ने घेरा सीएम हाउस, पुलिस से हुई झड़प
कार्यकर्ताओं को रोकती पुलिस.
Devwrat Bhagat | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: August 13, 2017, 4:34 PM IST
छत्‍तीसगढ़ जनता कांग्रेस (जोगी) ने शनिवार को कुर्सी छोड़ो आंदोलन के जरिए बीजेपी सरकार को घेरने की कोशिश की. आंदोलन के पहले चरण में पार्टी ने सीएम हाउस का घेराव किया गया. इस दौरान हजारों की तादाद में कार्यकर्ता सुभाष स्टेडियम में इकट्ठा हुए और फिर सीएम हाउस की ओर कूच किया.

सीएम हाउस घेराव के दौरान जोगी कांग्रेस के कार्यकर्ताओं और पुलिस के बीच जमकर झूमा-झटकी हुई. कार्यकर्ता ओसीएम चौक पर लगे बैरियर को तोड़कर आगे बढ़ गए, लेकिन आकाशवाणी तिराहे पर लगे बैरियर को पार करने में कार्यकर्ता विफल रहे. इसके बाद बैरन बाजार ग्राउंड को अस्थायी जेल बनाकर सभी कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर लिया गया.

प्रदर्शन को लेकर न्‍यूज़18/ईटीवी से हुई खास बातचीत में अजीत जोगी ने सरकार को भ्रष्टाचार में लिप्त बताते हुए दावा किया कि अगला चुनाव रमन वर्सेस जोगी होना है.

इधर अमित जोगी को भी प्रदर्शन के दौरान गिरफ्तार कर लिया गया, जिसके बाद अमित जोगी ने न्‍यूज़18/ईटीवी से हुई बातचीत में सरकार और विपक्ष दोनों पर निशाना साधा. साथ ही इशारों इशारों में कांग्रेस के दो बड़े नेताओं को जोकर करार दे दिया.

इधर जोगी परिवार की बहू ऋचा जोगी ने भी आंदोलन में बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया, वहीं इस आंदोलन को भी आने वाली चुनाव की तैयार का ही एक हिस्सा बताया. साथ ही ये भी कहा कि अगर अजीत जोगी उनके लिए सीट तय करते हैं तो वे चुनाव के लिए तैयार हैं.

बहरहाल कुर्सी छोड़ो आंदोलन के पहले ही चरण में सीएम हाउस का घेराव किया गया. इसके बाद जोगी कांग्रेस 14 अगस्त को पोस्टकार्ड के जरिये पीएम तक सरकार के कारनामों की जानकारी भेजेगी और फिर 2 अक्टूबर को जंतर-मंतर पर धरना-प्रदर्शन किया जाएगा.
First published: August 13, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर