लोकसभा चुनाव 2019: इस वजह से हर साल छत्तीसगढ़ में कम होता जा रहा बसपा का वोट शेयर

छत्तीसगढ़ राज्य बनने के बाद बसपा का वोट शेयर साल दर साल कम होता चला गया है. सूबे में बसपा से ज्यादा वोट शेयर निर्दलीयों के पास खिसकता जा रहा है.

Surendra Singh | News18 Chhattisgarh
Updated: April 19, 2019, 5:40 PM IST
लोकसभा चुनाव 2019: इस वजह से हर साल छत्तीसगढ़ में कम होता जा रहा बसपा का वोट शेयर
मायावती (File Photo)
Surendra Singh | News18 Chhattisgarh
Updated: April 19, 2019, 5:40 PM IST
नया राज्य छत्तीसगढ़ बनने के बाद अब तक हुए तीन लोकसभा चुनावों में तकरीबन 80 फीसदी से ज्यादा वोट भाजपा और कांग्रेस के बीच बंटता रहा है. सूबे की तीसरी पार्टियो को बीते तीन चुनावों में 10 फीसदी वोट भी हासिल नहीं हुए है. इतना ही नहीं निर्दलीय प्रत्याशियों को संयुक्त रूप से छोटी पार्टियों से ज्यादा वोट मिलते रहे हैं. साल 1998 में बसपा को 7.34 फीसदी वोट हासिल हुए थे. इसके बाद से प्रदेश में उसका वोट शेयर लगातार कम होता रहा है. बात अगर 1998 से 2014 के चुनाव के बीच की करें तो बसपा का वोट शेयर घटकर 2.44 फीसदी पर आ गया है. बावजूद इसके बसपा और जोगी कांग्रेस को उम्मीद है कि इस बार के लोकसभा चुनाव में त्रिकोणीय मुकाबले होने के साथ ही साथ चुनाव के अच्छे परिणाम की आश लगाए दोनो दल बैठे है. बसपा प्रदेश प्रभारी अशोक सिद्धार्थ का कहना है कि गठबंधन, कांग्रेस और बीजेपी के बीच त्रिकोणीय मुकाबला होगा. इस बार के लोकसभा चुनाव में गठबंधन अच्छे परिणाम देने वाली है. तो वहीं जेसीसी जे सुप्रीमो अजीत जोगी भी अच्छे परिणाम आने की ही बात कह रहे है.

अगर तीन बार के लोकसभा चुनाव पार्टियां का वोट शेयर की बात करे तो इस प्रकार से हैं...

पार्टी नाम                               2014                      2009                        2004
भाजपा                                   49.66                     45.27                      47.78

कांग्रेस                                   39.09                      37.07                     40.16
बसपा                                    2.44                        4.52                        4.54
सीपीआई                               0.63                        0.92                        0.43
Loading...

निर्दलीय                                 4.26                       9.84                         र3.85
तो वहीं दूसरी ओर देश की महाभारत में कांग्रेस और भाजपा बहुजन समाज पार्टी से कुछ खास इस्तेफाक नहीं रखते है. भाजपा और कांग्रेस तो अपने अलग ही दावे कर रहे है. दोनों दल प्रदेश की सभी 11 लोकसभा सीटे जीतने का दावां कर रहे है. पीसीसी प्रवक्ता राजेश बिस्सा का कहना है कि कांग्रेस सूबे की सभी 11 की 11 सीटों पर प्रबल तरीके से जीत दर्ज करेगी. वहीं भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ. रमन सिंह का कहना है कि जनता का झुकाव देखकर ऐसा लगता है कि हम 11 की 11 सीटों पर बढ़त हासिल करेंगे.

ये भी पढ़ें:

बीच सड़क धू-धू कर जली तेंदूपत्ता से भरी ट्रक, देखिए वीडियो 

बारात लेकर लौट रही गाड़ी पलटी, 7 की मौत, 12 गंभीर रूप से घायल 

शादी का भोज खाने के बाद 100 से ज्यादा की तबियत बिगड़ी, 24 की हालत गंभीर 

क क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स    
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...

वोट करने के लिए संकल्प लें

बेहतर कल के लिए#AajSawaroApnaKal
  • मैं News18 से ई-मेल पाने के लिए सहमति देता हूं

  • मैं इस साल के चुनाव में मतदान करने का वचन देता हूं, चाहे जो भी हो

    Please check above checkbox.

  • SUBMIT

संकल्प लेने के लिए धन्यवाद

जिम्मेदारी दिखाएं क्योंकि
आपका एक वोट बदलाव ला सकता है

ज्यादा जानकारी के लिए अपना अपना ईमेल चेक करें

डिस्क्लेमरः

HDFC की ओर से जनहित में जारी HDFC लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड (पूर्व में HDFC स्टैंडर्ड लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड). CIN: L65110MH2000PLC128245, IRDAI R­­­­eg. No. 101. कंपनी के नाम/दस्तावेज/लोगो में 'HDFC' नाम हाउसिंग डेवलपमेंट फाइनेंस कॉर्पोरेशन लिमिटेड (HDFC Ltd) को दर्शाता है और HDFC लाइफ द्वारा HDFC लिमिटेड के साथ एक समझौते के तहत उपयोग किया जाता है.
ARN EU/04/19/13626

News18 चुनाव टूलबार

  • 30
  • 24
  • 60
  • 60
चुनाव टूलबार