लोकसभा चुनाव 2019: अब 'नाराज' किसानों को मनाने की कोशिश में बीजेपी, बन रही नई रणनीति

अब लोकसभा चुनाव को लेकर बीजेपी ने अपने हर मोर्चे और विभाग की रणनीति में किसान मोर्चा को महत्वपूर्ण जिम्मेदारी में रखा है.

Mamta Lanjewar | News18 Chhattisgarh
Updated: February 14, 2019, 1:28 PM IST
लोकसभा चुनाव 2019: अब 'नाराज' किसानों को मनाने की कोशिश में बीजेपी, बन रही नई रणनीति
अब लोकसभा चुनाव को लेकर बीजेपी ने अपने हर मोर्चे और विभाग की रणनीति में किसान मोर्चा को महत्वपूर्ण जिम्मेदारी में रखा है.
Mamta Lanjewar | News18 Chhattisgarh
Updated: February 14, 2019, 1:28 PM IST
छत्तीसगढ़ में हुए विधानसभा चुनाव में मिले हार के कारणों में एक प्रमुख कारण बीजेपी किसानों की नाराजगी मान कर चल रही है. वहीं हार के कारणों की समीक्षा को लेकर जब 8 जनवरी को बीजेपी ने किसान मोर्चा की प्रदेश कार्यसमिति की बैठक बुलाई थी. बैठक में किसान मोर्चा के पदाधिकारियों ने जमकर अपना गुस्सा उड़ेला था. उन्होंने इस पूरे पांच साल किसान मोर्चा की उपेक्षा के भी आरोप लगाए थे. अब लोकसभा चुनाव को लेकर बीजेपी ने अपने हर मोर्चे और विभाग की रणनीति में किसान मोर्चा को महत्वपूर्ण जिम्मेदारी में रखा है.

बता दें कि बीजेपी किसान मोर्चा की एक अहम बैठक जब 8 जनवरी को एकात्म परिसर में हुई थी. इस बैठक में किसान मोर्चा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शैलेन्द्र सिंह सेंगर और प्रदेश संगठन महामंत्री पवन साय, किसान मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष पूनम चंद्राकर पार्टी के अध्यक्ष और नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक के सामने कई पदाधिकारियों ने जमकर भड़ास निकाली थी. उन्होंने खुलकर आरोप लगाया था कि विधानसभा में हार किसान मोर्चा की उपेक्षा से भी हुई है.

किसान मोर्चा के सदस्यों ने आरोप लगाए थे कि दिग्गज नेताओं को घमंड हो गया था. वो किसान मोर्चा को भी भूल गए थे. मोर्चा ने किसानों की नाराजगी की खबर कई बार बीजेपी आलाकमान तक पहुंचाई लेकिन कोई सुनने को तैयार ही नहीं था. चूंकि राष्ट्रीय नेत्रृत्व भी इस बैठक में था यही वजह है कि अब लोकसभा चुनाव को लेकर बीजेपी ने जो रणनीति बनाई उसमे हर मोर्चे और विभाग में किसान मोर्चा को साथ-साथ रखा है.



किसान मोर्चा खुद मानता है कि इस बार पहले की अपेक्षा ज्यादा तवोज्जों दी गई है. यही नहीं बड़ी संख्या में किसान मोर्चा के पदाधिकरियों के साथ सदस्यों को लोकसभा के लिए प्रशिक्षित करने 24 फरवरी को गोरखपुर किसान कुभं में भेजा जा रहा है. खुद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह इसमें शामिल होंगे. वहीं बीजेपी 19 फरवरी को किसान मोर्चा के एक बड़े प्रदर्शन के जरिए लोकसभा चुनाव को लेकर सरकार के खिलाफ आवाज बुलंद करेगी.

वहीं कांग्रेस महामंत्री महेंद्र छावड़ा का कहना है कि बीजेपी ने काफी देर कर दी है. अब इस तरह की किसी कवायद का कोई असर किसान मोर्चा पर भी नहीं होगा. कांग्रेस सरकार ने इतने कम समय में किसानों के लिए जो फैसले लिए है उसके बाद छत्तीसगढ़ के किसानों का हाथ कांग्रेस के साथ है.

ये भी पढ़ें:

IPS मुकेश गुप्ता और रजनेश सिंह को 'फरार' घोषित कर सकती है EOW!
Loading...

बीजेपी ने कांग्रेस के खिलाफ ट्विटर पर खोला मोर्चा, लगा रहे ये आरोप

बस्तर से बीजेपी की टिकट पर अकेले जीतने वाले भीमा मंडावी बने विधायक दल के उपनेता 

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स 
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...