लोकसभा चुनाव 2019: छत्तीसगढ़ में कांग्रेस प्रत्याशियों का मुकाबला मोदी के चेहरे के साथ!

प्रदेश भर में लगे होर्डिंग्स-बैनर-पोस्टरों में जहां एक तरफ कांग्रेस प्रत्याशियों के चेहरे दिखाई दे रहे हैं तो वहीं बीजेपी के पोस्टरों में सिर्फ और सिर्फ पीएम नरेंद्र मोदी ही छाए हुए हैं.

Awadhesh Mishra | News18 Chhattisgarh
Updated: April 15, 2019, 12:09 PM IST
लोकसभा चुनाव 2019: छत्तीसगढ़ में कांग्रेस प्रत्याशियों का मुकाबला मोदी के चेहरे के साथ!
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (फाइल फोटो)
Awadhesh Mishra | News18 Chhattisgarh
Updated: April 15, 2019, 12:09 PM IST
छत्तीसगढ़ में लोकसभा चुनाव 2019 की सरगर्मियां जोरों पर है. जहां देश 17वीं लोकसभा के चुनावी दौर में है, वहीं छत्तीसगढ़ में राजनीतिक दल पूरे दमखम से मैदान में डट गए हैं. सूबे में पहले चरण के मतदान हो चुके है. अब छत्तीसगढ़ में बाकी बचे दो चरणों के चुनाव के लिए प्रचार-प्रसार का दौर तूफानी अंदाज से आगे बढ़ रहा है. मुकाबले की बात करें तो छत्तीसगढ़ में यह कांग्रेस प्रत्याशियों और मोदी के चेहरे के बीच होता नजर आ रहा है.

यही वजह है कि प्रदेश भर में लगे होर्डिंग्स-बैनर-पोस्टरों में जहां एक तरफ कांग्रेस प्रत्याशियों के चेहरे दिखाई दे रहे हैं तो वहीं बीजेपी के पोस्टरों में सिर्फ और सिर्फ पीएम नरेंद्र मोदी ही छाए हुए हैं. राजनीतिक विशेषज्ञ रविकांत कौशिक की मानें तो जनता के लिए चुनी गई सरकार में राजनीतिक दल अपने ही प्रत्याशियों के वजन को घटा रहे है. यहां अपने ही लोगों की प्रतिष्ठा को कम करने का काम किया जा रहा है. मुद्दों को छोड़ राष्ट्रवाद और आतंकवाद पर फोकस किया जा रहा है.

बीजेपी का पोस्टर.


गौरतलब है कि छत्तीसगढ़ में बीजेपी ने 15 सालों तक विकास के दम पर चुनाव लड़ा. अब लोकसभा चुनाव आते-आते वो विकास के तमाम नारे और दावों को भूल गई. इतना ही नहीं बीजेपी ने अपने 10 मौजूदा सांसदों के टिकट काटने के बाद भी प्रत्याशियों का चेहरा पोस्टर में लगाना उचित नहीं समझा. अब इस मुद्दे पर राजनीतिक दल अपनी दलील दे रहे हैं.

बीजेपी प्रवक्ता संजय श्रीवास्तव का कहना है कि कांग्रेस इस वजह से अपने नेताओं का चेहरा पोस्टर पर नहीं लगा रही है क्योंकि उनको अपने राष्ट्रीय अध्यक्षों पर भरोसा है ही नहीं. उनको ये चिंता है कि अगर उनका फोटो लगा लेंगे तो जितने वोट मिल रहे है वो भी नहीं मिलेंगे. कांग्रेस के पास विश्वसनीय चेहरे का अभाव है. वहीं कांग्रेस प्रवक्ता विकास तिवारी का कहना है कि विधानसभा में पीएम मोदी छत्तीसगढ़ में पोस्टर बॉय थे. भाजपा को ये बताना चाहिए कि अब हार का ठीकरा किस पर फोड़ेंगे.

कांग्रेस पोस्टर.


देश में हुए पहले आम चुनाव की बात करें या फिर 2014 में हुए सोलहवें लोकसभा चुनाव की. सभी चुनावों में गांव-गरीब-किसान, युवा-बेरोजगार और उद्योग जैसे मुद्दे हावी रहे हैं. मगर ऐसा पहली बार देखने को मिल रहा है कि चुनाव मुद्दों और विकास से परे राष्ट्रवाद पर केंद्रित हो गया है. बहरहाल देखना होगा कि छत्तीसगढ़ में मोदी के चेहरे बनाम कांग्रेस प्रत्याशियों के इस रोचक मुकाबले में जीत किसकी होती है.
ये भी पढ़ें:

लोकसभा चुनाव 2019: अब इस हाईप्रोफाइल सीट से 'दांव' पर है डॉ. रमन सिंह की साख 

रामनवमी मेले में जवान पर नक्सलियों ने किया जानलेवा हमला, रायफल भी लूटी 

छत्तीसगढ़: बीजेपी के स्टार प्रचारक योगी आदित्यनाथ ने रायपुर में कहा,'मोदी हैं तो मुमकिन है' 

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स 
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...