लोकसभा चुनाव 2019: पीएम मोदी की सभा के बहाने इस 'नाराज वर्ग' को साधना चाहती है बीजेपी!

विधानसभा में करारी हार के बाद बीजेपी लोकसभा को लेकर काफी फूंक-फूककर कदम रख रही है. यही वजह है कि बीजेपी प्रधानमंत्री की सभाओं के लिए ऐसे स्थान चुन रही है, जिससे एक साथ कई मकसद साधे जा सकें.

Mamta Lanjewar | News18 Chhattisgarh
Updated: April 16, 2019, 11:27 AM IST
लोकसभा चुनाव 2019: पीएम मोदी की सभा के बहाने इस 'नाराज वर्ग' को साधना चाहती है बीजेपी!
पीएम नरेंद्र मोदी (फाइल फोटो)
Mamta Lanjewar | News18 Chhattisgarh
Updated: April 16, 2019, 11:27 AM IST
छत्तीसगढ़ में हुए विधानसभा चुनाव में मिली करारी हार के बाद बीजेपी की नींव सूबे में पूरी तरीके से हिल सी गई है. विधानसभा में न केवल अंदरूनी इलाकों बल्कि बीजेपी को मैदानी इलाकों में भी करारी शिकस्त का सामना करना पड़ा. बीजेपी को गुमान था की आम मजदूर और आदिवासी उनके साथ हैं. लेकिन विधानसभा के नतीजों ने साफ कर दिया कि राज्य में जनता ने मन बदल लिया है. अब लोकसभा चुनाव में बीजेपी की पहली प्राथमिकता इन रूठे लोगों को मनाने की ही है.

लोकसभा चुनाव में बीजेपी का हाथ मजबूत करने खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंगलवार को छत्तीसगढ़ आ रहे हैं. पीएम मोदी भाटापारा और कोरबा में चुनावी सभा को संबोधित करने वाले हैं. बीजेपी के पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल का कहना है कि प्रधानमंत्री की सभा जब तय की जाती है तो कई समीकरण देखे जाते हैं. उनका दावा है कि प्रधानमंत्री जहां भी जाते हैं, माहौल बीजेपी के पक्ष में ही बन जाता है. बहरहाल, सूबे में चुनावी माहौल को देखते हुए पीएम नरेंद्र मोदी के इस दौरे को काफी अहम माना जा रहा है.



प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कोरबा और भाटापारा में होने वाले चुनावी सभा के कई मायने निकाले जा रहे हैं. माना जा रहा है कि कोरबा जिले में सभा के जरिए जहां औद्योगिक इलाकों के संगठित और असंगठित मजदूरों को साधने की कोशिश बीजेपी कर सकती है. वहीं भाटापारा की सभा के जरिए व्यापारियों के बीच अपनी खोई पैंठ फिर से जमाने की बीजेपी कोशिश करेगी. दरअसल भाटापारा को अनाज से लेकर अन्य कई वस्तुओं का हब माना जाता है. जीएसटी की वजह से यहां व्यापारियों में जमकर नाराजगी थी. ऐसे में अब यहां सभा के जरिए उन्हें साधने की कवायद की जा रही है. वहीं कोरबा में कोरबा रायगढ़ और सरगुजा तीन लोकसभाओं के प्रत्याशी के लिए माहौल बनाना और कार्यकर्ताओं को भी साधना की कोशिश की जाएगी. साथ हीं भाटापारा के जरिए रायपुर ,बिलासपुर और जांजगीर चांपा इन सभी लोकसभाओं के लिए राह बीजेपी तैयार करना चाहती है.

ये भी पढ़ें:

लोकसभा चुनाव: पहले चरण के वोटिंग असिस्समेंट के बाद प्रदेश प्रभारी अनिल जैन ने किया ये बड़ा दावा 

VIDEO: चुनाव प्रचार का ऐसा अनोखा तरीका शायद आपने नहीं देखा होगा... 

लोकसभा चुनाव से ठीक पहले राजनांदगांव के नक्सली इलाकों में पत्थलगड़ी, हो सकता है बड़ा आंदोलन 
Loading...

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स 
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...

News18 चुनाव टूलबार

  • 30
  • 24
  • 60
  • 60
चुनाव टूलबार