छत्तीसगढ़: 18 सालों में नक्सलियों ने किए 9 हजार से अधिक अपराध

जनवरी 2001 से दिसंबर 2018 के बीच नक्सलियों ने छत्तीसगढ़ की धरती पर 9 हजार 96 अपराधों को अंजाम दिया है.

निलेश त्रिपाठी | News18Hindi
Updated: May 17, 2019, 5:10 PM IST
छत्तीसगढ़: 18 सालों में नक्सलियों ने किए 9 हजार से अधिक अपराध
Demo Pic.
निलेश त्रिपाठी | News18Hindi
Updated: May 17, 2019, 5:10 PM IST
मध्यप्रदेश से साल 2000 में अलग होने के बाद खजिन संपदाओं के साथ छत्तीसगढ़ को जो विरासत में मिला, उसमें नक्सल समस्या भी शामिल है. देश में नक्सल हिंसा से सबसे ज्यादा प्रभावित राज्यों में छत्तीसगढ़ है. 6 अप्रैल 2010 दंतेवाड़ा के ताड़मेटला में सीआरपीएफ पर अब तक का सबसे बड़ा हमला छत्तीसगढ़ में ही किया गया था. इस हमले में 76 जवान शहीद हो गए थे. 25 मई 2013 को किसी भी राजनीतिक दल पर सबसे बड़ा नक्सली हमला भी छत्तीसगढ़ में किया गया था. इस दिन कांग्रेस की परिवर्तन यात्रा पर बस्तर के दरभा के जीरमघाटी में नक्सलियों ने हमला कर दिया था. प्रदेश कांग्रेस के आला नेता नंदकुमार पटेल, विद्याचरण शुक्ल, महेन्द्र कर्मा समेत 29 लोगों की हत्या इस घटना में की गई थी.

ऐसी तमाम बड़ी वारदातें हैं, जिन्हें नक्सलियों ने छत्तीसगढ़ में अंजाम दिया है. नक्सली वारदातों को लेकर पुलिस के आंकड़े भी हैरान करने वाले हैं. जनवरी 2001 से दिसंबर 2018 के बीच नक्सलियों ने छत्तीसगढ़ की धरती पर 9 हजार 96 अपराधों को अंजाम दिया है. जबकि जनवरी 2019 से 15 मई 2019 तक कुल करीब 80 अपराधों को नक्सलियों ने अंजाम दिया है. सबसे ज्यादा मामले हत्या के प्रयास के दर्ज किये गए हैं.

Demo Pic.


छत्तीसगढ़ पुलिस से मिले आंकड़ों के अनुसार जनवरी 2001 से दिसंबर 2018 के बीच नक्सलियों ने हत्या के 1 हजार 801, हत्या के प्रयास के 3 हजार 704, डकैती के 744, लूट के 96, आगजनी के 717 वारदातों के लिए नक्सलियों पर अपराध दर्ज किए गए. इसके अलावा इस दरमियान नक्सलियों ने मारपीट के 90, बलात्कार के 10, अपहरण के 159 व अन्य अपराध मसलन धमकी देना, डराना जैसे 1 हजार 775 आपराधिक प्रकरण नक्सलियों पर दर्ज किए गए हैं. जनवरी 2019 से अब तक प्रदेश में नक्सलियों पर हत्या के 24 और हत्या के प्रयास के 32 मामले अलग अलग पुलिस थानों में दर्ज हैं.

ये भी पढ़ें: आदिवासियों पर दर्ज प्रकरणों पर समीक्षा समिति की बैठक, अधिकारियों को मिली जिम्मेदारी

छत्तीसगढ़ में नक्सल ऑपरेशन के डीआईजी पी संदुराज कहते हैं कि नक्सलियों के खिलाफ सुरक्षा बल के जवानों को लगातार कामयाबी मिल रही है. 2019 में अब तक अलग अलग मुठभेड़ों में पुलिस ने 26 नक्सलियों को मार गिराया है. फोर्स का दबाव लगातार नक्सलियों पर बढ़ रहा है. इस समस्या के खिलाफ लगातार सफल हो रहे हैं.
ये भी पढ़ें: छत्तीसगढ़ के इन आदिवासियों से 'न्याय' करना भूल गई सरकार? 
Loading...

ये भी पढ़ें: नक्सल विरोधी मुहिम में क्यों सफल होंगी बस्तर की आदिवासी महिला लड़ाकू? 
ये भी पढ़ें: छत्तीसगढ़ में बढ़े वोटिंग परसेंट को लेकर आप भी भ्रम में तो नहीं हैं?
ये भी पढ़ें: छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को कितना जानते हैं आप? 
ये भी पढ़ें:छत्तीसगढ़ में वोटर्स पर कितना असर डालेगा बीजेपी-कांग्रेस का नये चेहरों पर दांव? 
एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स 

 
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...

वोट करने के लिए संकल्प लें

बेहतर कल के लिए#AajSawaroApnaKal
  • मैं News18 से ई-मेल पाने के लिए सहमति देता हूं

  • मैं इस साल के चुनाव में मतदान करने का वचन देता हूं, चाहे जो भी हो

    Please check above checkbox.

  • SUBMIT

संकल्प लेने के लिए धन्यवाद

जिम्मेदारी दिखाएं क्योंकि
आपका एक वोट बदलाव ला सकता है

ज्यादा जानकारी के लिए अपना अपना ईमेल चेक करें

डिस्क्लेमरः

HDFC की ओर से जनहित में जारी HDFC लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड (पूर्व में HDFC स्टैंडर्ड लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड). CIN: L65110MH2000PLC128245, IRDAI R­­­­eg. No. 101. कंपनी के नाम/दस्तावेज/लोगो में 'HDFC' नाम हाउसिंग डेवलपमेंट फाइनेंस कॉर्पोरेशन लिमिटेड (HDFC Ltd) को दर्शाता है और HDFC लाइफ द्वारा HDFC लिमिटेड के साथ एक समझौते के तहत उपयोग किया जाता है.
ARN EU/04/19/13626

News18 चुनाव टूलबार

  • 30
  • 24
  • 60
  • 60
चुनाव टूलबार