पुलिस का दावा: दो सालों में 518 मुठभेड़ों में मारे गए 247 माओवादी
Raipur News in Hindi

पुलिस का दावा: दो सालों में 518 मुठभेड़ों में मारे गए 247 माओवादी
फाइल फोटो

छत्तीसगढ़ नक्‍सल आॅपरेशन के डीजी डीएम अवस्थी ने बताया कि पिछले दिनों माओवादियों के पर्चे जवानों ने बरामद किए थे. उन्हीं पर्चों में ये आंकड़े सामने आये थे.

  • Share this:
तीन दशकों से माओवाद हिंसा का दंश झेल रहे छत्तीसगढ़ में फोर्स पूरी तरह से एक्शन मोड में नजर आ रही है. फोर्स लगातार माओवादियों के गढ़ में घुसकर मुंह तोड़ जवाब दे रही है. पुलिस द्वारा हाल ही में पेश किए गए आंकड़ों पर ध्यान दें तो पिछले दो सालों में 247 माओवादियों को एंकाउंटर में सुरक्षा बल के जवानों ने मार गिराया है. पुलिस अधिकारियों का का दावा है कि नक्सल आपरेशंस में कामयाबी के ये आंकड़े पुलिस के नहीं, बल्कि खुद माओवादियों के हैं.

छत्तीसगढ़ नक्सल आॅपरेशन के डीजी डीएम अवस्थी ने बताया कि पिछले दिनों माओवादियों के पर्चे सुरक्षा बल के जवानों ने बरामद किए थे. उन्हीं पर्चों में ये आंकड़े सामने आये थे कि अगस्त 2017 से जुलाई 2018 के बीच छत्तीसगढ़ में 116 माओवादी मारे गये हैं. इससे पहले 2016 से 2017 के बीच में 129 माओवादी ढेर किए गए. इन दो सालों में मारे गए कुल माओवादियों में से 72 महिला माओवादी शामिल हैं.

पुलिस का दावा है कि नक्सल आपरेशंस में छत्तीसगढ़ के लिए पिछले दो साल बेहद कामयाबी भरे हैं.
जनवरी 2016 से अबतक 518 मुठभेड़ हुई हैं, जिसमें इस मुठभेड़ के दौरान 618 हथियार भी बरामद किए गए हैं. जिसमें एक एलएमजी, एक आॅटोमैटिक रायफल, 9 एके 47, 20 इंसास, 12 एसएलआर, मोटार्र, थ्री नाट थ्री रायफल और 21 पिस्टल जैसे हथियार शामिल हैं.



पुलिस का दावा है कि ऐसा नहीं कि सिर्फ माओवादियों को एनकाउंटर में मारा ही है. बल्कि 1852 माओवादियों ने इस दौरान सरेंडर भी किया है. जबकि अलग-अलग वारदातों में शामिल 2734 माओवादियों को गिरफ्तार भी किया गया है. अब पुलिस बल लाल आतंक के गढ़ में घुसकर उन्हें खदेड़ने में जुट गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज