लाइव टीवी

पुलिस कर्मियों को सालों की मांग के बाद मिली इस सुविधा में भी कटौती, हो सकता है आंदोलन

Raghwendra Sahu | News18 Chhattisgarh
Updated: October 1, 2019, 11:22 AM IST
पुलिस कर्मियों को सालों की मांग के बाद मिली इस सुविधा में भी कटौती, हो सकता है आंदोलन
पुलिसकर्मियों को साप्ताहिक अवकाश महज थोड़े समय के लिए मिला.

पुलिस (Police) कर्मियों के साप्ताहिक अवकाश, तनख्वाह बढ़ाए जाने, सुविधाएं बढ़ाने जैसी मांगों को लेकर पिछली सरकार के समय उनके परिजन मुखर होकर आंदोलन किया था.

  • Share this:
रायपुर. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) की राजधानी रायपुर (Raipur) में पुलिस (Police) विभाग में कुछ थानों के पुलिसकर्मियों को साप्ताहिक अवकाश महज थोड़े समय के लिए मिला और अब बल की कमी बताकर उसमें भी कटौती की जा रही है, जिससे पुलिसकर्मी परेशान हैं. ऐसे में एक बार फिर नाराजगी बढ़ रही है. वीकऑफ (Weekoff) को लेकर पुलिस कर्मियों के परिजन विधानसभा चुनाव 2018 से पहले राजधानी रायपुर में प्रदर्शन कर चुके हैं.

पुलिस (Police) कर्मियों के साप्ताहिक अवकाश, तनख्वाह बढ़ाए जाने, सुविधाएं बढ़ाने जैसी मांगों को लेकर पिछली सरकार के समय उनके परिजन मुखर होकर आंदोलन किया था. कांग्रेस (Congress) ने वादा भी किया था उनकी सरकार बनने पर सारी मांगें मान ली जाएंगी. कांग्रेस की सरकार बने लगभग 10 महीने बीत गए, लेकिन सारी मांगें तो पूरी नहीं हुई महज साप्ताहिक अवकाश मिलना कुछ थानों में शुरू हुआ था. उन थानों में जो सीएसपी कार्यालय से लगकर हैं.

8 थानों में थी सुविधा
राजधानी रायपुर (Raipur) में ऐसे महज 8 थानें ही थे, जहां वीकऑफ की सुविधा मिलती थी. जबकि कुल थानों की बात करें तो 33 थाने राजधानी में हैं. ऐसे में बाकी बचे थाने के पुलिसकर्मी अपने साप्ताहिक अवकाश की बाट जोह ही रहे थे, उनकी मुराद नहीं पूरी हुई बल्कि जिन 8 थानों में साप्ताहिक अवकाश मिल रहा था वहां भी पुलिसकर्मियों के साप्ताहिक अवकाश बल की कमी के कारण नहीं दिए जा रहे हैं.

गृहमंत्री भी मान रहे हैं कमी
पुलिस कर्मियों को वीकऑफ नहीं मिलने को लेकर गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू का कहना है कि पुलिस थानों में बल की कमी है. इसलिए परेशानी हो रही है. बता दें कि जहां एक ओर बल की कमी के कारण पुलिसकर्मियों को साप्ताहिक अवकाश नहीं मिल रहा वहीं दूसरी ओर 2 साल पहले 2259 आरक्षकों के पद के लिए हुए भर्ती प्रक्रिया को ही सरकार ने रद्द कर दिया है. इस मामले को लेकर विपक्षी दल भाजपा के प्रवक्ता केदारनाथ गुप्ता ने भूपेश सरकार पर निशाना साधा है. उनका कहना है कि कांग्रेस ने कोरे सपने लोगों को दिखाए थे, जो पूरे होते नजर नहीं आ रहे हैं.

ये भी पढ़ें: मंत्री कवासी लखमा ने कहा- छत्तीसगढ़ में शराबबंदी नहीं शराब की दुकान खोलना चाहते हैं लोग भूपेश सरकार का बेरोजगारों को बड़ा झटका, पुलिस आरक्षकों के 2259 पदों पर भर्ती निरस्त 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रायपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 1, 2019, 8:33 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर