• Home
  • »
  • News
  • »
  • chhattisgarh
  • »
  • छत्तीसगढ़ सियासी संकट के बीच टीएस सिंह देव का बड़ा बयान 'हाइकमान ने फैसला सुरक्षित कर लिया'

छत्तीसगढ़ सियासी संकट के बीच टीएस सिंह देव का बड़ा बयान 'हाइकमान ने फैसला सुरक्षित कर लिया'

छत्तीसगढ़ में ढाई-ढाई साल सीएम वाले फॉर्मूले को लेकर खींचतान चल रही है. (फाइल फोटो)

छत्तीसगढ़ में ढाई-ढाई साल सीएम वाले फॉर्मूले को लेकर खींचतान चल रही है. (फाइल फोटो)

टीएस सिंहदेव ने कहा कि आलाकमान की राय हमने जानी. समझी. निर्णय उनके पास सुरक्षित है. निर्णय जरूर आएगा. जो लोग कह रहे हैं कि कप्तान बदलने की बात नहीं है, उनकी सलाह सिर-आखों पर.

  • Share this:

    आदित्य राय

    रायपुर. छत्तीसगढ़ में भूपेश बघेल सरकार के अंदरुनी संकट के बीच आज यानी शनिवार को स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव का बयान सामने आया है. उन्होंने कहा कि मैंने जीवन में एक ही चीज स्थायी तौर पर देखी है और वह है – परिवर्तन. उन्होंने कहा कि हाइकमान ने सारी बातें संज्ञान में ली हैं और उन्होंने फैसला सुरक्षित कर लिया है.

    ये बातें टीएस सिंहदेव ने रायपुर में कहीं. वे दिल्ली दौरे से 20 दिनों के बाद रायपुर लौटे हैं. उन्होंने कहा कि आलाकमान से खुले मन से चर्चा हुई है. उन्होंने अपने पास फैसला सुरक्षित रख लिया है. आलाकमान का निर्णय जल्द ही सामने आएगा.

    आपको बता दें कि छत्तीसगढ़ में ढाई-ढाई साल के फार्मूले के तहत सीएम बदलने की चर्चा इन दिनों जोरों पर है. बीते 24 अगस्त को दिल्ली में सीएम भूपेश बघेल और स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव की संयुक्त बैठक राहुल गांधी के साथ हुई थी. इस बैठक में छत्तीसगढ़ कांग्रेस के प्रभारी पीएल पुनिया और पार्टी के वरिष्ठ नेता केसी वेणुगोपाल भी मौजूद रहे थे. इसके बाद पीएल पुनिया ने बयान में कहा कि ढाई-ढाई साल के सीएम की कोई बात नहीं है. बैठक में संभागवार विकास की चर्चा की गई.

    इन्हें भी पढ़ें :
    राहुल गांधी से भूपेश बघेल की 3 घंटे तक चली मुलाकात, CM ने बताया क्या बातचीत हुई
    कांग्रेस में हो सकता है अजीत जोगी की पार्टी का विलय, रेणु जोगी ने कहा- सोनिया गांधी कहें तो…

    शनिवार को टीएस सिंहदेव ने कहा कि आलाकमान की राय हमने जानी. समझी. निर्णय उनके पास सुरक्षित है. निर्णय जरूर आएगा. जो लोग कह रहे हैं कि कप्तान बदलने की बात नहीं है, उनकी सलाह सिर-आखों पर. उन्होंने दिल्ली दौरे के सवाल पर कहा कि 28 दिन दिल्ली में रहा. आना-जाना लगा रहा. राहुल गांधी से 2 बार मुलाकात हुई. दिल्ली में छत्तीसगढ़ के विधायकों के जमावड़े के संदर्भ में उन्होंने यह भी जोड़ा कि जिस तरह से लोग आए, उनमें से कई को तो आने को भी नहीं कहा गया था. मेरे पास संदेश आया तो मुलाकात हुई. मेरी मुलाकात केसी वेणुगोपाल से भी हुई. जब बाकी लोग आए थे, मैं उस वक्त मीटिंग में शामिल नहीं हुआ. वैसे भी, समय सीएम साहब ने मांगा था.

    इसे भी पढ़ें : मुख्‍यमंत्री भूपेश बघेल बोले- संदेश मिला कि आज मुझे राहुल गांधी से मिलना है, कुछ लोग बिन बुलाए ही गए

    उन्होंने कहा कि मैं बाकी लोगों के साथ विशेष विमान से इसलिए नहीं आया कि उसमे मेरा टिकिट नहीं कटवाया गया था. सीएम बनने के सवाल पर उन्होंने कहा कि यह जीवन का पहलु है. मैं जितना जीवन को समझ सका हूं, कोई चीज स्थायी है तो वह सिर्फ परिवर्तन है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज