छत्तीसगढ़ : निवेश के मामले में फिसड्डी साबित हो रही रमन सरकार

वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय के औद्योगिक नीति और संवर्धन विभाग ने निवेशकों को लेकर आंकड़े जारी किए हैं.

Surendra Singh | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: February 15, 2018, 11:13 AM IST
छत्तीसगढ़ : निवेश के मामले में फिसड्डी साबित हो रही रमन सरकार
छत्तीसगढ़ सीएम डॉ. रमन सिंह. फाइल फोटो.
Surendra Singh | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: February 15, 2018, 11:13 AM IST
छत्तीसगढ़ निवेश के मामले में फिसड्डी साबित हो रहा है. राज्य के मंत्री और अधिकारी निवेश लाने के नाम पर चाहे जितने विदेश दौरे और करोड़ों रुपये के आयोजन कर लें, लेकिन निवेशक छत्तीसगढ़ में नहीं आ रहे हैं. यह दावा भारत सरकार के ही वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय का है.

वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय के औद्योगिक नीति और संवर्धन विभाग ने निवेशकों को लेकर आंकड़े जारी किए हैं. ये ताजा ताजा आंकड़े बताते हैं कि पिछले साल भर में भारत में 3.95 लाख करोड़ रुपये के निवेश के प्रस्ताव आये हैं, लेकिन छत्तीसगढ़ में महज 0.65 फीसदी लोगों ने दिलचस्पी दिखाई.

आंकड़ों के अनुसार छत्तीसगढ़ से बेहतर स्थिति तो झारखंड की रही है. जहां 3.09 फीसदी निवेश हुआ.
पूरे देश में सबसे ज्यादा निवेश कर्नाटक में 38.48 फीसदी हुआ है, लेकिन प्रदेश की भाजपा सरकार छत्तीसगढ़ में निवेश को बेहतर स्थिति में मान रही है.

अगर औद्योगिक नीति और संवर्धन विभाग के ताजा आंकड़ों पर ध्यान दें तो कर्नाटक- 38.48 प्रतिशत, गुजरात- करीब 20.0 प्रतिशत, झारखंड- 3.09 प्रतिशत, मध्य प्रदेश- 1.81 प्रतिशत, छत्तीसगढ़- 0.53 प्रतिशत निवेश हुआ है. कांग्रेस ने निवेश के मामले में सत्तारुढ़ पार्टी भाजपा को घेरा है. कांग्रेस प्रवक्ता शैलेष नितिन त्रिवेदी का कहना है कि भाजपा सरकार विदेशों के दौरे तो कर रही है, लेकिन प्रदेश में निवेश आ नहीं रहा है.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर