Home /News /chhattisgarh /

छत्तीसगढ़ में दो साल में 400 माओवादियों को मारे जाने का दावा

छत्तीसगढ़ में दो साल में 400 माओवादियों को मारे जाने का दावा

फाइल फोटो

फाइल फोटो

छत्तीसगढ़ के चेहरे पर माओवाद का बदनुमा दाग अब धीरे-धीरे समाप्ति की ओर है. ऐसा गृहमंत्रालय के आंकड़े कह रहे हैं.

छत्तीसगढ़ के चेहरे पर माओवाद का बदनुमा दाग अब धीरे-धीरे समाप्ति की ओर है. ऐसा गृहमंत्रालय के आंकड़े कह रहे हैं. छत्तीसगढ़ में भले ही रोज पुलिस और नक्सली मुठभेड़ जारी हो, वहां अभी भी नक्सलियों की समानांतर सरकार चल रही हो. समानांतर इसलिए क्योंकि बस्तर के कई इलाके ऐसे हैं जहां पर खुद सरकारी तंत्र अभी तक नहीं पहुंचा है. जरूरी सुविधाएं नहीं पहुंच पा रही हों. आज भी छोटे बच्चे पोटा केबिन में रहने को मजबूर हैं.

इसके बाद भी गृहमंत्रालय के आंकड़ों का हवाला देकर राज्य के अधिकारी दावा कर रहे हैं कि राज्य में माओवादियों की कमर टूट गई है. दरअसल गृहमंत्रालय ने जो आंकड़े जारी किए हैं, उसके मुताबिक छत्तीसगढ़ में साल 2005 से 2017 तक कुल 971 माओवादियों को मार गिराया गया. छत्तीसगढ़ नक्सल आॅपरेशन के डीआईजी सुंदराज पी कहते हैं कि बस्तर सहित पूरे छत्तीसगढ़ में माओवादियों की कमर टूट गई है.

नक्सल आॅपरेशन से जुड़े अधिकारियों का यह भी मानना है कि माओवादी खात्मे कि लिए 2022 तक की समय सीमा तय की गई है.
उसी के अनुसार ही रणनीति बनाकर ऑपरेशन प्रहार जैसा अभियान लगातार चलाया जा रहा है. अब नजर उन आंकड़ों पर डाल लेते हैं, जिसको आधार कर माओवादियों की कमर टूटने की बात कही जा रही है.

गृहमंत्रालय द्वारा जारी आंकड़े के अनुसार साल 2005 से अब तक कुल - 971 माओवादियों को मार गिराया गया. इसमें साल 2016 से अब तक 270 माओवादियों का शव भी बरामद किया गया. जब्त माओवादी साहित्य में साल 2016 से अब तक 400 माओवादियों के मारे जाने का जिक्र होना बताया जा रहा है. साल 2018 में ही अब तक 51 माओवादियों को मार गिराने का दावा किया जा रहा है.

इन आकड़ों को देखकर भले ही हम अपनी पीठ थपथपाएं मगर एक और आकड़े की कड़वी सच्चाई पर नजर डालें तो दावे फीके साबित होते हैं. इसके तहत साल 2005 से 2017 तक कुल 975 जवानों की शहादत हुई. यह आंकड़े इन दावों की पोल खोलते हैं. यह बताते हैं कि माओवादियों से अधिक जवान हमने खोए हैं. यह सरकारी खुशी को मायूसी में बदलने के लिए भी काफी हैं.

हालांकि डीआईजी सुंदराज पी दावा कर रहे हैं कि छत्तीसगढ़ के सीमावर्ती चार राज्य महाराष्ट्र, ओडिशा, तेलांगाना और झारखंड पुलिस की मदद और बेहतर तालमेल की वजह से सफलता का स्तर अपेक्षाकृत बढ़ता जा रहा है. तय समय सीमा में माओवादियों का खात्मा करने में सुरक्षाबलों को कामयाबी मिलेगी.

आपके शहर से (रायपुर)

रायपुर
रायपुर

Tags: Chhattisgarh news, CPI Maoist

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर