लाइव टीवी

छत्तीसगढ़ नगरीय निकाय चुनाव: मान मनौव्वल से नहीं बनी बात, अब बागियों पर सख्ती करेगी BJP

Mamta Lanjewar | News18 Chhattisgarh
Updated: December 11, 2019, 6:05 PM IST
छत्तीसगढ़ नगरीय निकाय चुनाव: मान मनौव्वल से नहीं बनी बात, अब बागियों पर सख्ती करेगी BJP
छत्तीसगढ़ बीजेपी के बड़े नेता अपनी पार्टी के बागी प्रत्याशियों का मान मनौव्वल करके हार मान चुके हैं. फाइल फोटो.

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में विधानसभा चुनाव (Assembly Election) में बुरी हार के बाद अब बीजेपी (BJP) को नगरीय निकाय चुनाव (Urban Civic Elections) में अच्छे परिणाम की उम्मीद है.

  • Share this:
रायपुर. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) बीजेपी (BJP) के बड़े नेता अपनी पार्टी के बागी प्रत्याशियों का मान मनौव्वल करके हार मान चुके हैं. ऐसे में पार्टी ने अब उनके प्रति सख्ती करने का फैसला कर लिया है. तीन दिनों में यदि ये नहीं लौटे तो पार्टी उन्हें बर्खास्त करने की तैयारी में है. छत्तीसगढ़ बीजेपी (BJP) यह जानती है और मानती भी है कि पार्टी के बागी प्रत्याशी उनके लिए घातक हो सकते हैं. यही वजह है कि बीजेपी अभी भी अपने बागी प्रत्याशियों को पार्टी हित में चुनाव (Election) न लड़ने की गुजारिश कर रही है, लेकिन पार्टी यह भी देख रही है कि बागियों पर इसका कोई असर नहीं दिखाई पड़ रहा है.

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में विधानसभा चुनाव (Assembly Election) में बुरी हार के बाद अब बीजेपी (BJP) को नगरीय निकाय चुनाव (Urban Civic Elections) में अच्छे परिणाम की उम्मीद है. लेकिन बागी पार्टी की इस मंशा पर पानी फेर सकते हैं. ऐसे में पार्टी ने अल्टीमेटम जारी कर दिया है कि यदि तीन दिनों में बागियों ने चुनाव से कदम पीछे नहीं हटाए तो उन्हें पार्टी से बर्खास्त कर दिया जाएगा. बीजेपी के प्रवक्ता सच्चिदानंद उपासने का कहना है कि जो नाम नहीं वापस लेंगे वो थोड़ी चुनौती तो देंगे, लेकिन निर्दलीय प्रत्याशी बनने से उतनी बखत नहीं रह जाती है.

नाराजगी दूर होने की उम्मीद
हालांकि बीजेपी के कई वरिष्ठ नेताओं का कहना है कि नाराजगी दूर कर ली जाएगी. सच्चिदानंद उपासने कहते हैं कि उम्मीद है कि समय रहते नाराजगी दूर कर ली जाएगी, लेकिन यदि लोग नहीं मानें तो भी कोई फर्क भी नहीं पड़ेगा. वहीं राजनीतिक विश्लेषक रविकांत कौशिक का कहना है कि पार्टी यदि यह सख्ती करती है तो नुकसान होना तय है. क्योंकि बागी खुलकर पार्टी विरोधी काम करेंगे. ऐसे में उन्हें मना लेना ही बीजेपी के लिए फायदेमंद होगा.

ये भी पढ़ें:
बांग्लादेश से स्मगलिंग किया गया साढ़े 16 करोड़ रुपये का सोना कोलकता, रायपुर और मुंबई से जब्त  

दुर्ग के एक घर में चल रही थी शराब की अवैध फैक्ट्री, पुलिस ने मारा छापा 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रायपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 11, 2019, 5:12 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर