लाइव टीवी

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का आरोप-'छत्तीसगढ़ में पहले थी कमीशनखोर सरकार'

Awadhesh Mishra | News18 Chhattisgarh
Updated: February 27, 2019, 1:44 PM IST
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का आरोप-'छत्तीसगढ़ में पहले थी कमीशनखोर सरकार'
छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल.

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने पूर्व की बीजेपी सरकार पर जमकर निशाना साधा है. सीएम बघेल ने ट्वीट करते हुए पूर्व की सरकार को कमीशनखोर सरकार करार दिया है.

  • Share this:
छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने पूर्व की बीजेपी सरकार पर जमकर निशाना साधा है. सीएम बघेल ने ट्वीट करते हुए पूर्व की सरकार को कमीशनखोर सरकार करार दिया है. साथ ही सीएम ने जनता से पूछा है कि उन्हें कैसी सरकार चाहिए. उन्हें साड़ी, टिफिन और चप्पल बांटकर कमीशनखोरी करने वाली सरकार चाहिए या फिर उनका हक और अधिकार देने वाली सरकार चाहिए.

ट्वीट में सीएम भूपेश बघेल ने लिखा है- 'हम बांटने में नहीं बनाने की नीति में विश्वास रखते हैं. न थमेगा न रूकेगा छत्तीसगढ़ अब सिर्फ आगे बढ़ेगा.' गौरलतब हैं कि इन दिनों कांग्रेस-बीजेपी की बीच ट्विटर वॉर जैसा चल रहा है. हर मुद्दे पर पक्ष और विपक्ष दोनों ओर से ट्वीट पर तिखी प्रतिक्रिया दी जाती है. सीएम भूपेश लगातार ट्वीट कर पूर्व की सरकार पर निशाना साधते रहे हैं.



बता दें कि छत्तीसगढ़ विधानसभा के बजट सत्र में बीते मंगलवार को विनियोग बजट पर चर्चा के दौरान पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह और मुख्यमंत्री भूपेश बघेल आमने सामने आ गए. पूर्व सीएम डॉ. सिंह ने सरकार पर तबादला उद्योग चलाने का आरोप लगाया. डॉ. सिंह ने कहा कि नई सरकार में अधिकारियों को तबादले ही किए जा रहे हैं. इससे काम प्रभावित हो रहे हैं. इस पर भूपेश बघेल ने कहा कि पिछली सरकार में अधिकारियों की मिलीभगत से कई अनियमितताएं हुई हैं.
ये भी पढ़ें: पाकिस्‍तानी सेना का दावा, भारत के दो लड़ाकू विमान मार गिराए, एक पायलट गिरफ्तार 
ये भी पढ़ें: कांग्रेस की अहम बैठक में शामिल होंगे भूपेश बघेल, लोकसभा चुनाव को लेकर बनेगी रणनीति 
एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रायपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 27, 2019, 1:42 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...